fuelbuddy-raises-20-million-dollars-in-funding

Startup Funding – FuelBuddy: वैसे स्टार्टअप ईकोसिस्टम में मौजूदा दौर को ‘फंडिंग विंटर’ का नाम दिया गया है, मतलब ये कि इस समय निवेश डील लगभग ना के बराबर हो रही हैं। लेकिन इसके बाद भी कुछ भारतीय स्टार्टअप निवेश हासिल करने में सफल होते दिखाई दे रहे हैं।

इसी क्रम में अब फ्यूल डिलीवरी स्टार्टअप FuelBuddy ने अब अपने हालिया निवेश दौर (फंडिंग राउंड) में $20 मिलियन (~ ₹160 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व नवीन जिंदल ग्रुप (Naveen Jindal Group), रवि जयपुरिया ग्रुप (Ravi Jaipuria Group) और Nilesh Ved ने मिलकर किया।

नई दिल्ली आधारित यह स्टार्टअप प्राप्त की गई इस धनराशि का इस्तेमाल भारत समेत मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्रों और दक्षिण पूर्व एशिया जैसे विदेशी बाजारों में अपना विस्तार करने के लिए करता नजर आएगा।

आपको बता दें इसके पहले कंपनी ने यूएई जैसे बाजारों में अपने विस्तार की मंशा ज़ाहिर की थी, और अब इसका दावा है कि यह जल्द ही वहाँ अपनी सेवाओं को शुरू करने की तैयारी कर चुकी है।

इसके साथ ही निवेश का इस्तेमाल तकनीक क्षमताओं को बढ़ाने और वैकल्पिक ऊर्जा जैसे इलेक्ट्रिक मोबिलिटी व गैस आदि सेगमेंट्स में भी कंपनी की सेवाओं का विस्तार करने के लिए किया जाएगा।

FuelBuddy नामक इस स्टार्टअप की शुरुआत साल 2016 में की गई थी। कंपनी इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) और क्लाउड आधारित उत्पादों के जरिए ऑन-डिमांड डोरस्टेप फ्यूल डिलीवरी सर्विस की पेशकश करती है।

msme-digital-lender-startup-neogrowth-raises-rs-81-cr-funding

अपनी सेवाओं के जरिए कंपनी, ईंधन की खरीद और भंडारण से संबंधित चोरी, रिसाव, निगरानी और खपत को नियंत्रित करने जैसी चुनौतियों के समाधान विकल्प पेश करने का दावा करती है।

फिलहाल कंपनी देश भर के लगभग 130 शहरों में 45,000 से अधिक ग्राहक होने का भी दावा करती है। कंपनी के अनुसार, अब तक इसने देश भर में अपने भागीदारों को लगभग 10 करोड़ लीटर डीजल की डिलीवरी की है।

इसके ग्राहकों की सूची में Varun Beverages Ltd., Coca-Cola, Amazon, DLF, Infosys, Taj, Hitachi, Amazon, Flipkart, Mahindra Logistics और Delhivery जैसे दिग्गज नाम शामिल हैं।

इस नए निवेश के पहले कंपनी ने Jaipuria Family Office समेत अन्य निवेशकों से ₹40 करोड़ जुटाए थे। वहीं मई 2021 में FuelBuddy ने बेंगलुरु आधारित ऑन-डिमांड फ्यूल डिलीवरी स्टार्टअप MyPetrolPump का अधिग्रहण पूरा किया था।