apple-export-1-bn-dollar-phones-in-a-month-from-india

Apple exports phones worth $1 billion in a month from India: भारत तेजी से ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बननें की दिशा में आगे बढ़ रहा है। देश लगातार इन कोशिशों में है कि दिग्गज वैश्विक कंपनियों को आकर्षित करते हुए, स्थानीय उत्पादन को बढ़ाया जा सके और आयात पर निर्भरता को कम करते हुए, निर्यात के लिहाज से वैश्विक पटल पर एक बड़ी हिस्सेदारी हासिल की जा सके।

इसके लिए भारत सरकार भी निरंतर अपनी मेक-इन-इंडिया (Make in India) से लेकर प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (PLI Scheme) जैसी विभिन्न पहलों के जरिए प्रयास कर रही है। और अब इन कोशिशों के नतीजें भी दिखाई देने लगे हैं।

हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सामने आई खबरों के मुताबिक, टेक दिग्गज Apple अब इतिहास रचते हुए, भारत से एक महीने में $1 बिलियन से अधिक कीमतों के स्मार्टफोन्स निर्यात करने वाली पहली कंपनी बन गई है।

असल में इकोनॉमिक टाइम्स  की एक रिपोर्ट के मुताबिक, Apple ने दिसंबर 2022 में भारत से लगभग ₹8,100 करोड़ के iPhones का निर्यात किया। साथ ही संबंधित महीनें में देश से स्मार्टनों का कुल निर्यात ₹10,000 करोड़ दर्ज किया गया।

Apple record exports from India

जाहिर है पिछले महीनें हुए इस कुल निर्यात में Apple की इतनी बड़ी रिकॉर्ड हिस्सेदारी इस बात को साफ दर्शाती है कि अमेरिकी टेक दिग्गज तेजी से भारत में अपनी विनिर्माण क्षमताओं को शिफ्ट कर रहा है। इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह चीन के मौजूदा हालत और अनिश्चितताओं के माहौल को माना जा रहा है।

आपको बता दें Apple भारत में अपने सभी लेटेस्ट फोन जैसे iPhone 11, iPhone 12, iPhone 13 और iPhone 14 मॉडलों का निर्माण कर रही है।

amazon-foxconn-to-start-device-manufacturing-in-india

पिछले साल ही यह सामने आया था कि Apple कुछ ही समय के भीतर iPhone 14 के कुल वैश्विक उत्पादन का 5% भारत में स्थानांतरित करने की कोशिश कर रहा है, और कंपनी का इरादा साल 2025 तक भारत में अपने कुल प्रोडक्ट्स मैन्युफ़ैक्चरिंग के लिहाज से इस हिस्सेदारी को 25% तक ले जाने का है।

आपको बता दें भारत में कंपनी के प्रोडक्ट्स बनाने वाले तीन शीर्ष निर्माता – फॉक्सकॉन (Foxconn), पेगाट्रॉन (Pegatron) और विस्ट्रॉन (Wistron) तमिलनाडु और कर्नाटक में जैसी जगहों पर स्थित अपनी विनिर्माण इकाईयों के जरिए सरकार की पीएलआई योजना का लाभ उठाते हुए, मेड-इन-इंडिया (Made-in-India) iPhones व अन्य डिवाइसों का निर्माण कर रहे हैं।

दिलचस्प ये है कि इनमें से Wistron की एक निर्माण इकाई को खरीदने को लेकर भारतीय दिग्गज Tata Group अपनी कोशिशें तेज कर चुका है और मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इनके बीच की बातचीत अंतिम चरण में है।

रिपोर्ट्स की मानें तो Tata Group लगभग ₹4,000 करोड़ से ₹5,000 करोड़ में Wistron की कर्नाटक स्थिति मैनुफैक्चरिंग यूनिट को खरीदना चाहता है, जहाँ iPhones से लेकर Apple के अन्य तमाम प्रोडक्ट्स का उत्पादन होता है।

इतना ही नहीं बल्कि खबर तो यह भी है कि करीब 150 साल की विरासत से लैस Tata Group देश भर में एक्सक्लूसिव Apple Stores खोलनें की भी तैयारी में है। Tata भारत में लगभग 500 से 600 वर्ग फुट वाले 100 से अधिक Apple Stores खोल सकता है।