agritech-startup-meratractor-raises-rs-5-cr-funding

Startup Funding –  MeraTractor: भारत के लिहाज से एग्रीटेक क्षेत्र का महत्व काफी बढ़ जाता है, खासकर तब जब सरकार भी लगातार इस क्षेत्र को प्रोत्साहन देने के प्रयास कर रही है। ऐसे में इस क्षेत्र में कार्यरत तमाम स्टार्टअप्स अपनी प्रोडक्ट व सेवाओं के प्रसार लिए ग्राहकों के साथ ही साथ निवेशकों को भी आकर्षित करने के सफल प्रयास करते नजर आते रहे हैं।

इसी कड़ी में अब पुणे आधारित कृषि संबंधित मशीनीकरण उत्पादों के एक ‘फिजिटल मार्केटप्लेस’ MeraTractor ने अपने प्री-सीरीज ए फंडिंग राउंड में ₹5 करोड़ का निवेश हासिल किया है।

कंपनी द्वारा जारी किए गए एक बयान के अनुसार, इस निवेश दौर के नेतृत्व Gaadi.com के पूर्व सीईओ व सह-संस्थापक तथा ANS Commerce के मौजूदा सह-संस्थापक व सीईओ – विभोर सहारे (Vibhor Sahare) ने किया।

इतना ही नहीं बल्कि इस निवेश दौर में Real Time Angel Fund और Digital Futuristic Angels Network समेत कुछ एंजेल निवेशकों – गौरव गुप्ता (सीईओ, Adani Capital), शशांक कुमार (सह-संस्थापक, Dehaat), अमरेंद्र सिंह (सह-संस्थापक, Dehaat) व अन्य ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

इस नए प्री-सीरीज ए फंडिंग राउंड के साथ ही, एग्रीटेक स्टार्टअप MeraTractor द्वारा अब तक हासिल किया गया कुल निवेश ₹7.25 करोड़ तक पहुँच गया है।

प्राप्त की गई इस नई धनराशि का इस्तेमाल कंपनी अपनी डीलरशिप नेटवर्क की उपस्थिति का विस्तार करने और सप्लाई चैनलों को व्यवस्थित करने के लिए तकनीकी रूप से और अधिक मजबूत होने के लिए करेगी।

agritech-startup-meratractor-raises-rs-5-cr-funding

MeraTractor नामक यह एग्रीटेक स्टार्टअप असल में कृषि मशीनीकरण उत्पाद क्षेत्र में जुड़े सभी हितधारकों,  जैसे – किसानों, डीलरों, एजेंटों और वित्तीय संस्थानों के लिए एक वन-स्टॉप समाधान बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

यह स्टार्टअप एक डीलर-स्वामित्व वाले व कंपनी-संचालित मॉडल के तहत पूरे लेनदेन को नियंत्रित करते हुए किसानों, डीलरों, फाइनेंसरों और नए ट्रैक्टर ओईएम (OEMs) के लिए एक स्थायी व्यावसायिक प्रस्ताव के निर्माण का काम करता है।

इस नए निवेश को लेकर कंपनी के सह-संस्थापक, साजिथ अब्राहम (Sajith Abraham) ने कहा;

“फसल की खेती से लेकर बेहतर उपज सुनिश्चित करने या किसानों की आय में सुधार आदि के लिए सरकार की ओर से लगातार ज़ोर दिया जा रहा है। ऐसे में भारतीय किसानों, जिनमें से लगभग 85% से अधिक छोटे किसान हैं, के लिए कृषि मशीनीकरण बेहद अहम हो जाता है। लेकिन वह अक्सर अपनी कम खरीद क्षमताओं के कारण यहाँ चूक जाते हैं।”

वहीं कंपनी के अन्य सह-संस्थापक, मोनाक गोहेल (Monak Gohel) ने कहा;

“कृषि मशीनीकरण क्षेत्र व्यापाक क्रांति के कगार पर है और अब इनोवेशन आदि के जरिए एक ऐसा माहौल तैयार हो रहा है, जिसके चलते MeraTractor जैसे स्टार्टअप इस क्षेत्र की मौजूदा खामियों को दूर करने में मदद कर सकेंगे।”