national-startup-awards-2022-full-list-of-winners

National Startup Awards 2022: 16 जनवरी को राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस के मौके पर केंद्र सरकार की ओर से ‘राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2022’ के तमाम विजेताओं का ऐलान किया गया। तमाम क्षेत्रों से जुड़े देश भर से लगभग 42 स्टार्टअप्स समेत 2 इनक्यूबेटर्स और 1 एक्सेलरेटर ने संबंधित संबंधित श्रेणियों में अवार्ड जीतें।

बता दें राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार की शुरुआत साल 2020 में की गई थी, और यह इसका तीसरा संस्करण है। नई दिल्ली में सोमवार को मौके पर पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की ओर से विजेता स्टार्टअप्स व अन्य को पुरस्कार प्रदान किए गए।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2022 के तहत सरकार ने मुख्य रूप से विविधता, समावेशन और इनोवेशन जैसे पहलुओं को ध्यान में रखते हुए विजेताओं का चयन किया।

इसके लिए सरकार को देश भर के 31 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के स्टार्टअप्स, इनक्यूबेटर्स तथा एक्सीलरेटर्स की ओर से लगभग 2,667 आवेदन भी मिले। इसके बाद सरकार की ओर से नियुक्त 50 से अधिक जूरी सदस्यों ने मिलकर सभी आवदेनों का आँकलन करते हुए विजेताओं का चयन किया है।

आपको बता दें नियुक्त किए गए इन सदस्यों में कुछ वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ ही साथ वेंचर कैपिटलिस्ट, नामी स्टार्टअप्स के सीईओ, उद्योग जगत की मशहूर हस्तियाँ आदि शामिल थे। 

इस बार के राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2022 में 2 श्रेणियों, 5 उप-श्रेणियों तथा 2 विशेष श्रेणियां को जोड़ते हुए कुल 17 श्रेणियों और 50 उप-श्रेणियों से संबंधित विजेताओं का चयन किया गया।

National Startup Awards 2022

कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा सरकार निरंतर ही नए इनोवेशन और विचारों पर ध्यान केंद्रित करते हुए, एक स्टार्टअप की तर्ज पर सोचने का प्रयास कर रही है, जिससे चीजों को भली-भाँति समझते हुए देश में स्टार्टअप्स ईको-सिस्टम से संबंधित तमाम प्रक्रियाओं, उत्पादकता, पारदर्शिता और अन्य कई सुधारों को लागू किया जा सके।

several-indian-startups-may-lose-their-unicorn-status

इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने 2015 में केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए ‘डिजिटल भारत मिशन’ का ज़िक्र करते हुए यह कहा कि सरकार को यह अंदाज़ा था कि जब तक देश के कोने-कोने को डिजिटल रूप से जोड़ा नहीं जाएगा, तब तक समान विकास की अवधारणा को वास्तविकता में नहीं बदला जा सकता है।

उनके अनुसार, इन्हीं चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए देश भर में तेजी से डिजिटल भारत, गांवों में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी और 5G रोल आउट जैसी चीजों को बढ़ावा दिया जा रहा है।

इस दौरान पीयूष गोयल ने ‘मार्ग’ (MAARG) पोर्टल का भी जिक्र किया। बताते चलें कि MAARG Portal का पूरा नाम (फुल फॉर्म) कुछ इस प्रकार है – M का मतलब मेंटरशिप, A का मतलब एडवाइजरी, A का मतलब असिस्टेंस, R का मतलब रेजिलिएशन और G का मतलब ग्रोथ (MAARG पोर्टल)

यह देश भर में स्टार्टअप्स के लिए विभिन्न क्षेत्रों, कार्यों, चरणों, भौगोलिक क्षेत्रों आदि के लिहाज से मेंटरशिप आदि की सुविधा के लिए एक सिंगल-विंडो प्लेटफॉर्म के रूप में काम करता है।

फिर से बात राष्ट्रीय स्टार्टअप पुरस्कार 2022 के इस तीसरे संस्करण के विजेताओं की करें तो राज्यों के हिसाब से 18 स्टार्टअप विजेताओं के साथ कर्नाटक ने पहला स्थान प्राप्त किया, वहीं इसके 9 विजेताओं के साथ महाराष्ट्र को दूसरा व 4 विजेताओं के साथ दिल्ली तीसरे स्थान पर रहा।

बता दें T-Hub को बेस्ट इनक्यूबेटर का अवार्ड मिला। इस बीच आप जीते गए सभी 42 स्टार्टअप्स समेत 2 इनक्यूबेटर्स और 1 एक्सेलरेटर की पूरी लिस्ट यहाँ देख सकते हैं!