hcl-tech-q3-results-net-profit-rise

HCL Tech Q3 Results: भारतीय बहुराष्ट्रीय आईटी दिग्गज कंपनी एचसीएल  टेक्नोलॉजीज (HCL Technologies) के लिए अक्टूबर से दिसंबर की तीसरी तिमाही के नतीजें सारे अनुमानों को पछाड़ते हुए बेहद उत्साहजनक रहे।

कंपनी ने मौजूदा वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में राजस्व के लिहाज से बेहतरीन प्रदर्शन किया और इस दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ (नेट प्रॉफिट) लगभग 20% की बढ़त के साथ ₹4,096 करोड़ रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की संबंधित तिमाही में ₹3,442 करोड़ था।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

वहीं कुल राजस्व की बात करें तो HCL Tech ने इस लिहाज से भी लगभग 19.61% की बढ़त दर्ज करते हुए यह आँकड़ा ₹26,700 करोड़ रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की समक्ष तिमाही में ₹22,321 करोड़ था। आपको बता दें इस नई तिमाही राजस्व रिपोर्ट को कंपनी ने 12 जनवरी को जारी किया।

HCL Tech Q3 Results: क्या था अनुमान?

रिपोर्ट्स के अनुसार तमाम सर्वे की मानें तो कंपनी का कुल राजस्व सलाना 16.6% की वृद्धि के साथ ₹26,026 करोड़ रहने की उम्मीद थी, वहीं टैक्स के बाद कुल लाभ (PAT) के 10.6% की बढ़त के साथ ₹3,796 करोड़ रहने का अनुमान लगाया गया था।

HCL Tech

भारत की इस तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी ने तीसरी तिमाही के दौरान 17 बड़ी डील हासिल कीं, जिनका कुल मूल्य लगभग $2.35 बिलियन रहा, जो साल-दर-साल के हिसाब से 10% अधिक है।

इसके साथ ही ब्याज के पहले की आय और टैक्स (EBIT) के रूप में ऑपरेटिंग मार्जिन की गणना करने पर भी आँकड़े सुधार को दर्शाते नजर आए। कंपनी के अनुसार, निरपेक्ष रूप से ₹5,228 करोड़ का ऑपरेशनल प्रॉफिट अब तक के अधिकतम स्तर पर रहा।

कंपनी की तमाम सहायक इकाईयों को देखें तो इसने अपनी वित्तीय सेवा इकाई से निरंतर मुद्रा को लेकर 1.7% की वृद्धि में क्रमिक गिरावट दर्ज की, वहीं विनिर्माण, दूरसंचार और लाइफ साइंस में 4.5-5.5% की वृद्धि हासिल की गई है।

इस दौरान कंपनी के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर, सी विजयकुमार (C Vijayakumar) ने कहा;

“अपनी बेहतर स्थिति, मजबूत प्रस्तावों और हमारे कर्मठ कर्मचारियों के जरिए हम शानदार विकास के आँकड़े पेश करने को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं।” 

इस दिसंबर तिमाही के दौरान HCL Technologies ने लगभग $50 मिलियन के 3 क्लाइंट्स, $20 मिलियन के 2 क्लाइंट्स और $5 मिलियन के 9 क्लाइंट्स हासिल किए। अकेले टॉप 5 क्लाइंट्स ने तीसरी तिमाही के दौरान कंपनी के कुल राजस्व में 10% से अधिक का योगदान दिया है।

वहीं इस तिमाही के दौरान कंपनी तुलनात्मक रूप से नए कर्मचारियों को शामिल करने से बचती दिखी। असल में HCL Tech ने पिछली तिमाही में जहाँ 8,359 नए कर्मचारी जोड़े थे, वही इस तिमाही के दौरान सिर्फ 2,945 नए कर्मचारियों को ही शामिल किया गया। इसके साथ ही अब HCL Tech के कुल कर्मचारियों की संख्या बढ़कर लहभग 2,22,270 हो गई है।

जाहिर है ये इस लिहाज से भी अहम हो जाता है क्योंकि मौजूदा समय में तमाम टेक दिग्गज कंपनियाँ जैसे Salesforce आदि ने बड़े पैमानें पर छंटनियाँ की हैं और भारत समेत वैश्विक रूप से अभी भी छंटनियों का दौर जारी ही है।

लेकिन तीसरी तिमाही के नतीजों के बाद गिरे कंपनी के शेयर

भारतीय आईटी दिग्गज HCL Tech द्वारा पेश किए गए तीसरी तिमाही के नतीजों के बाद शुक्रवार को कंपनी के शेयर लगभग 3% की गिरावट दर्ज करते नजर आए।

असल में जानकारों के अनुसार, इसके पीछे का कारण कंपनी द्वारा चालू वित्त वर्ष के लिए राजस्व वृद्धि के अनुमान को कम करना है। बता दें आगामी तिमाही में तमाम चुनौतियों का हवाला देते हुए, HCL Tech ने 31 मार्च, 2023 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए अपने राजस्व वृद्धि अनुमान को 13.5% -14.5% से घटाकर 13.5% – 14% कर दिया है।

इतना ही नहीं बल्कि विश्लेषकों ने वित्त वर्ष 2023 की चौथी तिमाही में कंपनी की वृद्धि दर्ज करने की क्षमता पर पर संशय जताया है।

 

1 comment

Comments are closed.