maarg-portal-a-national-mentorship-platform-by-startup-india

National Mentorship Platform – MAARG Portal: देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर में भारतीय स्टार्टअप्स अपनी व्यापक पहचान बनाने में कामयाब हो रहे हैं। ऐसे में भारत की अर्थव्यवस्था में ‘स्टार्टअप्स’ के महत्व को देखते हुए, देश की केंद्र व तमाम राज्य सरकारें लगातार ‘स्टार्टअप ईकोसिस्टम’ को बढ़ावा देने के प्रयास कर रही है।

अब इन प्रयासों को और अधिक मजबूती प्रदान करने के इरादे से वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के तहत आने वाले उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) ने मार्ग पोर्टल (MAARG Portal) पर रजिस्ट्रेशन के लिए स्टार्टअप ऐप लॉन्च किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

इस बात की जानकारी खुद वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में दी गई। दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप ईकोसिस्टम यानि ‘भारतीय स्टार्टअप ईकोसिस्टम’ को बढ़ावा देने के लिए ही मार्ग पोर्टल (MAARG Portal) की शुरुआत की गई है। बुधवार को ही भारत सरकार ने MAARG Portal पर रजिस्ट्रेशन की शुरूआत करते हुए स्टार्टअप्स को आवेदन के लिए आमंत्रित किया है।

क्या है MAARG Portal?

यह पोर्टल असल में स्टार्टअप इंडिया (Startup India) पहल के तहत पेश किया गया एक नेशनल मेंटरशिप प्लेटफॉर्म है। MAARG Portal का पूरा नाम (फुल फॉर्म) कुछ इस प्रकार है – M का मतलब मेंटरशिप, A का मतलब एडवाइजरी, A का मतलब असिस्टेंस, R का मतलब रेजिलिएशन और G का मतलब ग्रोथ (MAARG पोर्टल)

MAARG Portal

यह देश भर में स्टार्टअप्स के लिए विभिन्न क्षेत्रों, कार्यों, चरणों, भौगोलिक क्षेत्रों आदि के लिहाज से मेंटरशिप आदि की सुविधा के लिए एक सिंगल-विंडो प्लेटफॉर्म के रूप में काम करता नजर आएगा।

मार्ग पोर्टल का इस्तेमाल करते हुए भारतीय स्टार्टअप शिक्षाविदों, उद्योग के विशेषज्ञों, सफल स्टार्टअप संस्थापकों, अनुभवी निवेशकों के साथ ही साथ दुनिया भर के एडवाइजर्स और एक्सपर्ट के साथ भी जुड़नें का मौका मिलेगा।

इस पोर्टल के प्रमुख फीचर्स में कस्टमाइजेबल मेंटरशिप प्रोग्राम, मोबाइल फ्रेंडली यूजर इंटरफेस, वीडियो और ऑडियो कॉल विकल्प आदि शामिल हैं।

कैसे काम करेगा MAARG पोर्टल? 

मोटे तौर पर देखा जाए तो MAARG पोर्टल मुख्य रूप से तीन चरणों में काम करेगा, जो कुछ इस प्रकार है;

चरण 1: इसके तहत सरकार ने पोर्टल पर पहले से ही अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े 400 से अधिक विशेषज्ञों को जोड़ (ऑनबोर्ड) लिया है।

चरण 2: इसमें अब सरकार ने देश भर के स्टार्टअप्स से आवदेन करने की अपील की है, ताकि वह इस पहल का लाभ उठाते हुए, विकास के भागीदार बन सकें।

चरण 3: इस अंतिम चरण में पोर्टल में शामिल किए गए विशेषज्ञों, मेंटर्स और स्टार्टअप्स को आपस में कनेक्ट करने का काम किया जाएगा। दिलचस्प रूप से स्टार्टअप्स और उनके क्षेत्रों से संबंधित विशेषज्ञों को आपस में कनेक्ट करने के लिए पोर्टल आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) तकनीक का इस्तेमाल करेगा।

बताते चलें कि सरकार द्वारा जारी किए गए आँकड़ों की मानें तो देश भर में अब तक कुल 82,000 से अधिक मान्यता प्राप्त स्टार्टअप मौजूद हैं, जिनमें से 107 स्टार्टअप यूनिकॉर्न ($1 बिलियन से अधिक की वैल्यूएशन) का दर्जा हासिल किए हुए हैं।

अगर आप भी मार्ग (MAARG) पोर्टल में अप्लाई करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक कर सकते हैं।