food-agri-startup-fresh-from-farm-rs-3-2-cr-funding

Startup Funding – Fresh From Farm: यह बताने की जरूरत नहीं कि भारत में फूड-एग्री सेगमेंट में कितनी संभावनाएँ मौजूद है। और बीतें कुछ सालों से तमाम स्टार्टअप्स इन्हीं संभावनाओं को तलाशने की कोशिश कर रहे हैं और इसमें कामयाब होते भी नजर आ रहे हैं।

इसी क्रम में अब दिल्ली आधारित फूड-एग्री स्टार्टअप Fresh From Farm ने अपने सीड फंडिंग राउंड में ₹3.2 करोड़ का निवेश हासिल किया है। कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व Inflection Point Ventures ने किया।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी की मानें तो हासिल की गई धनराशि का इस्तेमाल टीम को मज़बूत बनाने, इन्वेंट्री मैनेजमेंट,अनुसंधान एवं विकास और ब्रांडिंग आदि जैसी को लेकर किया जाएगा।

Fresh From Farm की शुरुआत रोहित नागदेवानी (Rohit Nagdewani) द्वारा की गई थी। यह कंपनी निजी लेबल के तहत फल और सब्जी जैसे उत्पाद बेचती है, जो डेटा आधारित विश्लेषण के माध्यम से फल और सब्जी उत्पादन को बढ़ाने में भी मदद प्रदान करती है।

Fresh From Farm
Credit: Fresh From Farm (Facebook)

दिलचस्प रूप से यह स्टार्टअप एक ओर जहाँ ग्राहकों को ताजा और गुणवत्तापूर्ण फल खरीदने में मदद करता है और उनके दरवाजे तक उन्हें पहुंचाता भी है, वहीं दूसरी ओर विक्रेताओं की आय में भी लगभग 13% तक की वृद्धि का दावा करता है।

असल में इस कंपनी के अनुसार, यह व्यापारियों के स्तर पर फलों की बर्बादी को कम करते हुए मांग-आपूर्ति संतुलन को बरकरार रखने की कोशिश करता है, जिससे ग्राहकों और विक्रेताओं दोनों को सीधा लाभ होता है। कंपनी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों के तहत सुविधाओं की पेशकश करती है।

एक अनुमान के मुताबिक, आने वाले 15 सालों में फल और सब्जी से संबंधित बाजार का कुल आकार लगभग $500 बिलियन के आँकड़े को पर कर जाएगा।

यह कंपनी आगामी 12-15 महीनों में 30 गुना वृद्धि दर्ज करने और 1,000 से अधिक बिक्री प्वाइंट्स का आँकड़ा छूने का लक्ष्य लिए आगे बढ़ रही है। कंपनी के मुताबिक, इसने वित्त वर्ष 2022 में ₹78 लाख तक का लाभ कमाया है और अपने फलों और सब्जियों के व्यापार मार्जिन में सुधार करने की दिशा में भी काम कर रही है।

भारत में कंपनी सीधे तौर पर Otipy, Bigbasket और Blinkit जैसे प्रतिद्वंदियों के साथ मुक़ाबला करती नजर आती है।

इस निवेश को लेकर Fresh From Farm के संस्थापक, रोहित ने कहा;

“हमारी आर्टिफ़िशल इंटेलिजेन्स (एआई) आधारित प्रणाली 89% की सटीकता दर के साथ, फलों की सटीक मात्रा आदि को लेकर भविष्यवाणी कर सकने में सक्षम बनाती है। इसके जरिए हमनें उत्पादों की होने वाली बर्बादी को 2-3% तक लाने का काम किया है, जबकि बाजार मानक 20-22% का है।”

“लेकिन यही ना रुकते हुए, हमारा मकसद आने वाले 18 महीनों में 95% तक की सटीकता दर को हासिल करने का है।”

वहीं Inflection Point Ventures के संस्थापक, विनय बंसल (Vinay Bansal) ने कहा;

“देश भर के ग्राहक तेजी से इसको लेकर जागरूक हो रहे हैं कि वे क्या खाते हैं? कहाँ से उसे हासिल करते हैं? और उसमें कितना पोषण तत्व है?”

“लेकिन ये भी सच है कि आज भी किसान और खुदरा विक्रेता सप्लाई चेन से जुड़ी तमाम चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, जिसके चलते हर साल लाखों टन खराब उत्पाद सिर्फ बर्बाद हो जाता है। ऐसे में इस कंपनी के तकनीक आधारित समाधान का लाभ उठाते हुए, किसान, खुदरा विक्रेताओं और ग्राहकों सभी को लाभ होता है।”