ev-startup-chargeup-raises-funding

Startup Funding – Chargeup: देश में इलेक्ट्रिक वाहनों का बाजार तेजी से व्यापक स्वरूप ले रहा है। लेकिन एक चुनौती जो लगातार बनी हुई है, वह है ‘ईवी चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर’ की, जिसको मजबूत किए बिना इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रसार का सपना पूरा नहीं हो सकता है।

दिलचस्प बात ये है कि इंडस्ट्री की इन जरूरतों को भली-भाँति समझते हुए तमाम स्टार्टअप्स अपने-अपने तरीके से प्रयास कर रहे हैं और उन्हें निवेशकों का भी पूरा समर्थन मिल रहा है। इसी क्षेत्र से संबंधित बैटरी स्वैपिंग या ‘बैटरी-एज-ए-सर्विस सॉल्यूशंस’ और FiNeTech (फाइनेंस-नेटवर्क-टेक्नोलॉजी) ईवी प्लेटफॉर्म, Chargeup ने अपने प्री-सीरीज ए1 राउंड में $7 मिलियन (~ ₹56 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व Capital A और Anicut Capital ने मिलकर किया। इसके साथ ही लोकप्रिय टीवी शो निर्माता – एकता कपूर, एंजेल निवेशक – सुनील कालरा, Mastercard के सचिन मेहरा और Jiraaf आदि ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

प्राप्त की गई इस धनराशि का इस्तेमाल यह स्टार्टअप 20 नए शहरों में अपनी सेवाओं का विस्तार करने और 50,000 से अधिक ड्राइवरों को सेवाओं की पेशकश हेतु करेगी।

इसके साथ ही कंपनी अपने ग्राहकों के लिए शानदार अनुभव और 100% अपटाइम सुनिश्चित करने के इरादे से अपने FiNeTech प्लेटफॉर्म और टेक स्टैक को भी मजबूत करने का काम करेगी। इसके तहत ड्राइवर्स 40% कम पैसा खर्च करके इलेक्ट्रिक वाहन खरीद सकेंगें और उनकी कमाई में भी 80% से अधिक की वृद्धि होगी।

वरुण गोयनका (Varun Goenka) और अंकुर मदन (Ankur Madan) द्वारा शुरू किया गया यह स्टार्टअप फिलहाल दिल्ली-एनसीआर में 200 से अधिक बैटरी-स्वैप स्टेशन संचालित कर रहा है, जहाँ हर महीनें लगभग एक लाख स्वैप का आँकड़ा दर्ज किया जा रहा है।

Chargeup
Credit: Chargeup

इस नए निवेश को लेकर बात करते हुए, स्टार्टअप के सह-संस्थापक, वरुण गोयनका (Varun Goenka) ने कहा;

“मौजूदा समय में हमारा देश ईवी क्रांति के शिखर पर कहा जा सकता है, और इसलिए Chargeup सरकार के ईवी संबंधित मिशन को मजबूत करने में योगदान दे रहा है।”

“लास्ट-माइल मोबिलिटी ड्राइवरों के जीवन में अहम बदलाव दर्ज करने के बाद, अब बतौर कंपनी हम बड़े पैमाने पर OEMs और ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ साझेदारी कर रहे हैं, ताकि वह भी अपनी डिलीवरी फ़्लीट को अधिक से अधिक ईवी पर स्विच करके लागत को कम कर सकें।”

कंपनी का लक्ष्य साल 2027 तक करीब 10 लाख ड्राइवर्स को बैटरी-स्वैप सेवाओं की पेशकश करने और इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने की दर को बढ़ाने में मदद करने का है।

हाल ही में इस स्टार्टअप ने पश्चिमी दिल्ली (उत्तम नगर) में अपना पहला ईवी मेला आयोजित किया था, जिसमें NBFCs, ईवी OEMs, ई-कॉमर्स व फूड-कॉमर्स समेत Hero Electric, Zomato, Blinkit, Vahan, Rapido, Uber आदि शामिल रहे।