google-play-upi-autopay-option-in-india

Google Play adds UPI Autopay in India: यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस या यूपीआई (UPI) आज के समय भारत में सबसे लोकप्रिय पेमेंट विकल्प बन गया है।

देश में अधिकांश पर्सन-टू-पर्सन (P2P) और मर्चेंट पेमेंट्स के लिए बतौर ‘मोबाइल पेमेंट रूट’, UPI का ही इस्तेमाल हो रहा है। जाहिर है ऐसे में लंबे समय से ये माँग की जा रही थी कि टेक दिग्गज, Google भी अपने Play Store पर इसे पेमेंट विकल्प के रूप में शामिल करे।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

और अब ऐसा लगता है कि Google ने लोगों की माँग को पूरा करते हुए, देश में Google Play के तहत उपयोगकर्ताओं को सब्सक्रिप्शन-आधारित खरीदारी के लिए UPI विकल्प लॉन्च कर दिया है।

जी हाँ! Google Play में जोड़े गए ‘UPI Autopay’ विकल्प के जरिए उपयोगकर्ता बिना अधिक परेशानी के सब्सक्रिप्शन-आधारित खरीदारी कर सकेंगे।

सरल शब्दों में कहें तो Google Play Store ऐप में अब ‘Pay with UPI’ का विकल्प भी जोड़ दिया गया है, जिसके तहत UPI समर्थित ऐप जैसे Paytm, GPay, Amazon Pay आदि का इस्तेमाल करते हुए आप मनचाहा सब्सक्रिप्शन खरीद सकते हैं।

इस सुविधा को पेश करने में Google को काफी समय लगा, वो भी तब जब 2019 में ही कंपनी ने Play Store पर ऐप, गेम और इन-ऐप सामग्री खरीदने के लिए पेमेंट विकल्प के तौर पर – ‘UPI’ विकल्प को पेश कर दिया था।

इतना साफ कर दें कि इस नए पेमेंट विकल्प को जोड़ने के अलावा कंपनी ने Play Store के बिलिंग सिस्टम में कोई अन्य बदलाव नहीं किया है। मतलब ये कि अभी भी देश में Play Store के जरिए के सब्सक्रिप्शन-आधारित खरीदारी के दौरान Google कमीशन लेता रहेगा।

Google Play UPI Autopay

दिलचस्प ये है कि ये फीचर ऐसे वक्त में जोड़ा गया है जब कुछ ही समय पहले भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने Google पर लगातार 2 जुर्माने लगाए। पहले 21 अक्टूबर को CCI ने प्रतिस्पर्धा-विरोधी प्रथाओं को अपनाने का दोषी मानते हुए, गूगल इंडिया (Google India) पर लगभग ₹1,338 करोड़ का जुर्माना लगाया था।

इसके बाद CCI ने Play Store से जुड़े मसलों को लेकर भी कंपनी पर ₹936.44 करोड़ का दूसरा जुर्माना लगाया था। इसका असर ये रहा था कि कंपनी को भारत में अपनी ‘Play Billing’ पॉलिसी को अस्थाई रूप से रोकना पड़ा था।

क्या है UPI AutoPay? 

बता दें UPI Autopay को UPI 2.0 के अंतर्गत नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा साल 2020 में ऑटोमेटिक पेमेंट को आसान बनाने के मकसद के साथ पेश किया गया था।

इसका उपयोग करते हुए लोग बिल, रिचार्ज, सब्सक्रिप्शन और तमाम अन्य ₹2,000 तक के भुगतान को मैन्युअल प्रक्रिया के बजाए ऑटोमेटिक रूप से (बिना UPI PIN दर्ज किए) कर सकते हैं। इस फीचर को मुख्य रूप से लोग ईएमआई (EMI) भरने या मोबाइल आदि का बिल भरने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

लेकिन अगर रकम ₹2,000 से अधिक है, तो पेमेंट पूरा करने के लिए उपयोगकर्ताओं को UPI पिन दर्ज करने की आवश्यकता होती है।

Google Health Connect ऐप भी हुआ Play Store पर उपलब्ध! 

साथ ही आपको बताते चलें कि Google ने अपने Health Connect ऐप को भी अब Play Store पर उपलब्ध करवा दिया है। ऐप को आधिकारिक तौर पर Beta वर्जन में लॉन्च किया गया है, जिसे आप Google Play Store से डाउनलोड कर सकते हैं।

यह ऐप यूजर्स को एक ही जगह पर कई ऐप्स द्वारा हासिल किए गए अपने फिटनेस डेटा को मैनेज करने की सुविधा प्रदान करती है। कंपनी ने मई 2022 में हुए Google I/O इवेंट के दौरान Health Connect ऐप की पहली झलक पेश की थी।