employees-sue-twitter-after-elon-musk-begins-layoffs
Credits: Wikimedia Commons

Employees sue Twitter as Elon Musk begins layoffs: जिस बात की शुरू से अटकलें लगाई जा रही थीं, वो आखिरकार सच साबित हुईं। ट्विटर (Twitter) का नया मालिक बनते ही ईलॉन मस्क (Elon Musk) ने कंपनी में बड़े पैमानें में छंटनी शुरू कर दी है।

लेकिन ऐसा लगता है कि ईलॉन मस्क (Elon Musk) के लिए बड़ी संख्या में Twitter Inc के मौजूदा कर्मचारियों को निकालना इतना आसान नहीं होने वाला है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि अब ये छंटनी का पूरा मसला कोर्ट पहुँच गया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

जी हाँ! माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म की कमान संभालते ही सबसे पहले सीईओ समेत अन्य कई शीर्ष अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाने वाले ईलॉन मस्क से इसके बाद ‘बॉर्ड ऑफ डायरेक्टर’ को भंग कर दिया था।

और अब यहीं ना रुकते हुए खबरों के मुताबिक मस्क ने शुक्रवार यानि 4 नवंबर तक कंपनी के लगभग आधे कर्मचारियों की छंटनी का फरमान सुना दिया है।

Twitter Layoffs 

लेकिन Bloomberg की एक रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को ही सैन फ्रांसिस्को की संघीय अदालत (फेडरल कोर्ट) में एक क्लास-एक्शन मुकदमा दायर किया गया, जो असल में ईलॉन मस्क द्वारा Twitter के आधे कर्मचारियों की छंटनी से ही जुड़ा हुआ है।

असल में दायर की गई इस याचिका में ट्विटर (Twitter) कर्मचारियों ने आरोप लगाया है कि कंपनी ने बिना किसी उचित नोटिस दिए उन्हें नौकरी से निकाल रही है। कर्मचारियों का कहना है कि ऐसा रवैया सीधे तौर पर वर्कर एडजस्‍टमेंट एंड रीट्रेनिंग नोटिफिकेशन (WARN) ऐक्‍ट का उल्‍लंघन है।

असल में इस एक्ट के तहत किसी भी कंपनी या नियोक्‍ता को अपना कोई प्‍लांट बंद करने या बड़े पैमाने पर छंटनी करने जैसी स्थिति से पहले प्रभावित कर्मचारियों को एडवांस में एक नोटिस देना होता है।

बता दें कर्मचारियों की ओर से ये याचिका अटॉर्नी शैनन लिस-रिऑर्डन ने दायर की है, और इसमें ये माँग की गई है कि Twitter को WARN एक्‍ट का पालन करने के निर्देश दिए जाएँ।

दिलचस्प रूप से कर्मचारियों ने कोर्ट में यह भी माँग की है कि Twitter को निर्देश दिए जाएँ कि वह कर्मचारियों से ऐसी किसी आधिकारिक दस्‍तावेजों पर हस्‍ताक्षर ना करवाए, जिनमें कानूनी लड़ाई का अधिकार छोड़ने को लेकर रजामंदी देने जैसी बातें हों। एक अनुमान के मुताबिक, कंपनी लगभग 3700 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल सकती है।

बता दें इन मसलों पर कंपनी की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया अब तक सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आई है।

कंपनी ने कर्मचारियों से कहा – “रास्ते में हैं तो घर लौट जाएँ”

इसके पहले कंपनी की ओर से कर्मचारियों को भेजे गए मेल में बताया गया कि ‘ट्विटर के सभी कर्मचारियों, कस्टमर डाटा और सिस्टम्स की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए कंपनी के ऑफिसों को अस्थाई रूप से बंद किया जा रहा है। इसके साथ ही सभी बैज सस्पेंड किए जाने की जानकारी भी दी गई।

twitter-layoffs

कर्मचारियों को कहा गया कि;

“अगर आप कंपनी के किसी ऑफिस में हैं या ऑफिस आने के रास्ते में हैं, तो कृपया घर लौट जाएं।”

“हमें पता है कि यह सभी के किए काफी चुनौतीपूर्ण साबित होने वाला है, चाहे आपकी नौकरी प्रभावित हो रही हो या नहीं।”

#LoveWhereYouWorked और #TwitterLayoffs हो रहे ट्रेंड

इस बीच आपको बता दें बहुत से कर्मचारी जिन्हें कंपनी ने निकाल दिया है, वह Twitter पर ही इसको लेकर ट्वीट कर रहे हैं!