apple-reports-double-digit-revenue-growth-in-india

Apple reports double-digit revenue growth in India: भारतीय स्मार्टफोन बाजार में एंड्रॉइड (Android) फोनों की व्यापक हिस्सेदारी के बाद भी अमेरिकी टेक दिग्गज Apple ने भारत में सितंबर तिमाही में राजस्व के लिहाज से अहम वृद्धि दर्ज की है।

इस बात का ऐलान चौथी तिमाही की राजस्व रिपोर्ट को पेश करते हुए खुद कंपनी के सीईओ, टिम कुक (Tim Cook) ने किया। उनके अनुसार, भारत में नया राजस्व रिकॉर्ड दर्ज करते हुए, संबंधित तिमाही में राजस्व वृद्धि दर दहाई (दोहरे) अंकों में रही।

टिम कुक के अनुसार, कंपनी बीते कुछ सालों में भारत, दक्षिण पूर्व एशिया और लैटिन अमेरिका के बाजारों में अपनी स्थिति को मजबूत करते हुए लगातार अविश्वसनीय रूप से अच्छा प्रदर्शन कर रही है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

Apple के मुख्य वित्त अधिकारी, लुका मेस्त्री (Luca Maestri) ने कहा कि भारत इस तिमाही के दौरान iPhone की बिक्री के मामले में एक नया रिकॉर्ड बनाता नजर आ रहा है। वैसे उन्होंने इस संबंध में कोई विशेष आँकड़े जारी नहीं किए।

Refinitiv की द्वारा पेश किए गए डेटा के मुताबिक, Apple ने सितंबर तिमाही में कुल $90.1 बिलियन राजस्व  दर्ज किया, जो साल-दर-साल के लिहाज से 8% की वृद्धि को दर्शाता है। अनुमानित आँकड़ो के अनुसार, इस तिमाही में कंपनी की शुद्ध आय $20.7 बिलियन रही, जो तुलनात्मक रूप से 4% अधिक है।”

टिम कुक के मुताबिक, प्रोडक्ट राजस्व में वृद्धि भू-राजनीतिक, आर्थिक और सप्लाई चेन चुनौतियों के बीच दर्ज की गई है। इस बीच Apple के लिए सिलिकॉन से संबंधित सप्लाई बाधाएं कोई खास फ़र्क डालती नजर नहीं आई।

apple india revenue growth

Apple reports double-digit revenue growth in India

कंपनी के अनुसार, संबंधित तिमाही में iPhone से अर्जित राजस्व $42.6 बिलियन रहा, जो साल-दर-साल लिहाज से 10% की बढ़त को दर्शाता है।

वहीं Apple के लैपटॉप यानि MacBooks के जरिए अर्जित राजस्व आँकड़ा $11.5 बिलियन का रहा, जो पिछले साल की तुलना में 25% अधिक था।

साथ ही वियरेबल्स, होम और अन्य एक्सेसरीज से कंपनी ने $9.7 बिलियन का राजस्व कमाया, जो साल-दर-साल लिहाज से 10% की वृद्धि को प्रदर्शित करता है।

लेकिन इन सब के बीच iPads की बिक्री से कमाया गया राजस्व पिछले वर्ष की तुलना में 13% तक कम रहा और महज $7.2 बिलियन के आँकड़े को ही छू सका।

अगर बात की जाए चौथी तिमाही में Apple के सर्विस रेवेन्यू की तो यह आँकड़ा 5% वृद्धि के साथ $19.2 बिलियन रहा। जाहिर है इससे कंपनी के सशुल्क सब्सक्रिप्शन ने मजबूत वृद्धि दिखाई देती है।

कंपनी के मुताबिक, इसके प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध तमाम सर्विस को इस्तेमाल करने वाले 900 मिलियन से अधिक सशुल्क (पेड) उपयोगकर्ता हैं।

ये सब ऐसे वक्त में हो रहा है जब Apple भारत में अपने प्रोडक्ट्स की मैन्युफ़ैक्चरिंग क्षमताओं के विस्तार को लेकर काफी गंभीर और तेज प्रयास कर रहा है। इसी के तहत कंपनी ने हाल में ही लॉन्च हुए iPhone 14 का निर्माण भी चेन्नई के श्रीपेरंबदूर में स्थित Foxconn के प्लांट में शुरू कर दिया है।

Apple की योजना के अनुसार, कंपनी इस साल के अंत तक iPhone 14 का कुल वैश्विक उत्पादन का 5% भारत में स्थानांतरित करने की कोशिश करेगा और साल 2025 तक सभी प्रोडक्ट्स मैन्युफ़ैक्चरिंग के लिहाज से ये हिस्सेदारी 25% तक जाने की संभावना है।