eyewear-brand-cleardekho-raises-rs-40-crore-funding

Startup Funding – ClearDekho: भारत स्टार्टअप ईकोसिस्टम में हमेशा से ही डायरेक्ट-टू-कंज़्यूमर (D2C) कंपनियों की व्यापक हिस्सेदारी रही है और निवेशकों ने भी इन स्टार्टअप्स में भरपूर भरोसा दिखाया है।

इसी क्रम में अब डायरेक्ट-टू-कंज़्यूमर आईवियर (चश्मों का) ब्रांड ClearDekho ने अपने सीरीज-ए फंडिंग राउंड में $5 मिलियन (लगभग ₹40 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के लिए इस निवेश का नेतृत्व Venture Catalysts और SphitiCap ने मिलकर किया। इनके साथ ही Dholakia Ventures, NB Ventures, Estrela Ventures, Cornerstone, Boon Capital और FAAD Network ने भी निवेश दौर में अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

कंपनी के मुताबिक, प्राप्त की गई इस धनराशि का इस्तेमाल मुख्य रूप से संचालन के विस्तार के लिए किया जाएगा।

ClearDekho की शुरुआत साल 2017 में की गई थी। यह कंपनी अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म और ऑफलाइन स्टोर्स (ओमनीचैनल) दोनों माध्यमों के जरिए चश्मों की खरीदारी की सेवाएँ प्रदान करती है।

eyewear-brand-cleardekho-raises-rs-40-crore-funding

इसकी खासियत ये है कि यह ग्राहकों को किफायती कीमत पर चश्मों के व्यापक विकल्प मिल जाते हैं। शायद यही वजह भी है कि कंपनी मुख्य रूप से टियर II, III और IV शहरों व कस्बों में कम आय वर्ग लेकिन विशाल बाजार आधार वाले उपभोक्ताओं को टार्गेट करती है।

अपनी शुरुआत से अब तक इस ब्रांड ने देश के 40 से अधिक शहरों में 100 से अधिक स्टोर्स खोल लिए हैं और यह खुद का एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस भी चलाती है।

इस निवेश को लेकर ClearDekho के संस्थापक और सीईओ, शिवी सिंह (Shivi Singh) ने कहा,

“भारत में चश्मों की भारी मांग है, और इस क्षेत्र में संगठित सेगमेंट हर साल दोगुनी रफ्तार से बढ़ रहा है। हम देश में अवसरों की संभावनाओं को देखते हुए बेहद उत्साहित हैं।”

“देश के टियर II, III, IV और V शहरों के नए युग के उपभोक्ताओं के व्यवहार में काफी बदलाव आए हैं। हमने वित्तवर्ष 2021 से वित्तवर्ष 2022 के बीच कारोबार में लगभग 60% की वृद्धि दर्ज की है और आने वाले सालों में हम इस आँकड़े को दोगुना करने के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहे हैं।”

वहीं SphitiCap के मैनेजिंग पार्टनर, पल्लव कुमार सिंह (Pallav Kumar Singh) ने कहा;

“देश में महामारी के बाद अब लोग ऑनलाइन शॉपिंग का तेजी से रुझान कर रहे हैं। और इन बदलावों के चलते ClearDekho जैसे दूरदर्शी ब्रांडों को असाधारण रूप से विकास की गति को बढ़ाने में मदद मिली है।”

“हम खुद भी एक ऐसी ब्रांड के साथ काम करने को लेकर उत्साहित हैं जो बेहतरीन ट्रैक रिकॉर्ड और स्थायी विस्तार रणनीति के साथ आगे बढ़ रहा है।”

अगर बात भारतीय आईवियर सेगमेंट की करें तो आज के समय में Lenskart जैसे दिग्गज ब्रांड ClearDekho के लिए सीधे प्रतिद्वंदी कहें जा सकते हैं। और ये इसलिए भी और दिलचस्प हो जाता है क्योंकि शुरूआत में प्रीमियम उपभोक्ता वर्ग तक सिमटा Lenskart, बीते कुछ सालों से देश के टियर II और III शहरों की ओर भी तेजी से रूख करता देखा जा रहा है।