digital-banking-units-launched-in-india

Digital Banking Units: तेजी से डिजिटल होते इस दौर में भारत भी दुनिया के बाकी कई देशों की तरह कदम से कदम मिला कर चल रहा है। इसी क्रम में अब भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 75 जिलों में 75 डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स लॉन्च किए हैं।

रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जम्मू-कश्मीर में दो डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स (DBUs) के साथ कुल 75 डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स का उद्घाटन किया।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

जाहिर है देश में इन डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स के जरिए नागरिकों को नए दौर की तकनीकों की मदद से बेहतर बैंकिंग अनुभव प्रदान किया जा सकेगा। दिलचस्प रूप से पीएम ने इस दौरान यह भी कहा कि आज के समय में भारत में पारंपरिक रूप से हर 1 लाख आबादी पर जितनी बैंक शाखाएं उपलब्ध हैं, वो चीन, दक्षिण अफ्रीका और जर्मनी जैसे देशों से भी ज्यादा है।

लेकिन आखिर ये डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स हैं क्या और ये किस तरह से पारंपरिक बैकिंग से परे कैसे ग्राहकों की मदद कर सकेगा? आइए इन सवालों के जवाब जानते हैं;

डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स (Digital Banking Units) क्या हैं?

देश को मिले ये डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स असल में ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सेवाओं की पेशकश करते नजर आएँगें। आसान भाषा में समझाए तो डिजिटल बैंकिंग को भी पारंपरिक बैंकिंग की तरह ही देखा जा सकता है, लेकिन अंतर सिर्फ इतना है कि पारंपरिक बैंकिंग की तरह इसमें कोई ‘फिजिकल ब्रांच’ नहीं होती, और ये पूरी तरह से ऑनलाइन बैंक होते हैं।

pm-modi-warns-on-cryptocurrency

इन बैंकों की सेवाओं का उपयोग ग्राहक अपने मोबाइल व अन्य डिवाइसों का इस्तेमाल करते हुए, इंटरनेट के जरिए कर सकते हैं। इन सेवाओं में ऑनलाइन अकाउंट खुलवाना, लेन-देन करना, लोन, क्रेडिट, डेबिट कार्ड, बिल पेमेंट आदि शामिल हैं।

गौर करने वाली बात ये भी है कि इन डिजिटल बैंक में ग्राहक अकाउंट स्टेटमेंट देखने और अकाउंट नॉमिनेशन जैसे विकल्प भी मौजूद होंगे।

इसका सीधा लाभ ये है कि इन डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स को पारंपरिक बैंक के मुकाबले बेहद कम इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत पड़ती है।

इसके लॉन्च के दौरान पीएम मोदी ने कहा;

“भारत के लगभग 99% से अधिक गांवों में 5 किमी के भीतर किसी ना किसी बैंक की ब्रांच, आउटलेट आदि उपलब्ध हैं। लेकिन डिजिटल बैंकिंग के जरिए ये सेवाएं पहले से कहीं अधिक आसान हो जाएँगी। साथ ही ये बैंक पूरी तरह से सुरक्षित भी होंगे।”

पीएम मोदी के अनुसार, भारत में फोन बैंकिंग की जगह आज के दौर में “डिजिटल बैंकिंग” का इस्तेमाल काफी व्यापक हो गया है।

उन्होंने आगे कहा कि देश में तेजी से बढ़ता फिनटेक क्षेत्र क्रांतिकारी बदलाव ला रहा है। इसके तह काफी तेजी से लोकप्रिय हुआ UPI भी भारत के लिए कई नई संभावनाएं लेकर आया है।