byjus-raises-rs-2000-crore-in-fresh-funding

BYJU’S raises fresh funding: भारत का स्टार्टअप ईको-सिस्टम फंडिंग के मामले में इस वक्त एक मुश्किल दौर से गुजरता नजर आ रहा है। लेकिन ऐसे समय में भी एक बड़ी खबर सामने आई है।

असल में भारत के दिग्गज एडटेक स्टार्टअप्स में से एक BYJU’S ने यह ऐलान किया है कि कंपनी ने अपने हालिया फंडिंग राउंड में $250 मिलियन (लगभग ₹2000 करोड़) का निवेश हासिल किया है। 

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी को यह निवेश Qatar Investment Authority (QIA) समेत अपने मौजूदा निवेशकों से मिला है। पर साफ दें कि कंपनी ने इस निवेश दौर के दौरान के मूल्यांकन (वैल्यूएशन) का खुलासा नहीं किया है।

आपको बता दें मार्च 2022 में BYJU’S ने $800 मिलियन का निवेश हासिल किया था, जिसमें से $400 मिलियन के करीब खुद कंपनी के संस्थापक बायजू रवींद्रन ने व्यक्तिगत रूप से निवेश किए थे। उस समय कंपनी का मूल्यांकन (वैल्यूएशन) लगभग $22 बिलियन आँका गया था।

इस बीच तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस निवेश दौर में कंपनी की वैल्यूएशन $22 बिलियन ही रही। पर साफ कर दें कि कंपनी की ओर से इस विषय में आधकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा गया है।

BYJU’S raises Rs 2000 crore fresh funding

इस नए निवेश को लेकर BYJU’S के सीईओ, बायजू रवींद्रन ने कहा; 

“BYJU’S अब अपने विकास के दौर में एक सुनहरे स्थान पर है, जो अर्थशास्त्र और अर्थव्यवस्था दोनों के लिहाज से हमारे पक्ष में हैं। इसका मतलब ये है कि अब हम अपने व्यवसाय में जो धनराशि निवेश कर रहे हैं, उसके साथ हम लाभप्रद बनने की दिशा में और करीब आ रहे हैं।”

“प्रतिकूल परिस्थितियों के बाद भी, वित्तवर्ष 2022-23 में राजस्व, विकास और लाभप्रदता के लिहाज से हमें बेहतर नातीजों की उम्मीद है। हमारे सम्मानित निवेशकों का लगातार समर्थन हमारे लाभप्रदता बनने के मार्ग को मान्यता प्रदान करता है।”

असल में कंपनी ने पिछले हफ्ते ही जल्द ही लाभप्रदता अर्जित करने की घोषणा की थी, जिससे तहत वह अपनी सभी सहायक कंपनियों को एक इकाई के रूप में स्थापित करती नजर आएगी, ताकि उसका प्रत्यक्ष लाभ उठाया जा सके।

byjus-to-become-indias-most-valuable-startup-with-16-5-bn-dollar-valuation

लेकिन परीक्षा की तैयारी और अपस्किलिंग क्षेत्र में कार्यरत क्रमशः Aakash Education और Great Learning स्वतंत्र इकाइयों के रूप में काम करना जारी रखेगी।

लेकिन इसी दौरान यह भी रिपोर्ट्स सामने आई थीं, कि कंपनी के विभिन्न विभागों में कार्यरत लगभग 2,500 लोगों की छंटनी की जा सकती है।

दिलचस्प ये है कि इस बीच कंपनी दुनिया भर में लगभग 10,000 अकादमिक कर्मचारियों की नियुक्ति की योजना भी बना रही है, जिसमें से लगभग आधी भर्तियाँ भारत में की जाएगीं। साथ ही कंपनी अब अपने मार्केटिंग बजट को अपने विदेशी बाजारों की ओर फिर से इस्तेमाल करने का मन भी बना रही है।

एडटेक दिग्गज़ का दावा है कि 120 से अधिक देशों में इसके 150 मिलियन से अधिक शिक्षार्थी इसके उत्पादों और सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।