creator-led-commerce-startup-wishlink-raises-funding

Startup Funding – Wishlink: भारत में लाइव कॉमर्स या कहें तो ‘क्रिएटर्स-आधारित कॉमर्स’ सेगमेंट दिन-प्रतिदिन व्यापक रूप लेता नजर आ रहा है। जाहिर है इंटरनेट व सोशल मीडिया ने आज के दौर में कॉमर्स जगत के लिए कई नए रास्तों को खोला है।

आज इसी क्षेत्र से संबंधित क्रिएटर्स आधारित कॉमर्स स्टार्टअप Wishlink ने अपने सीड फंडिंग राउंड में $3 मिलियन (लगभग ₹24 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

बता दें कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व Elevation Capital ने किया। इसमें 70 से अधिक व्यक्तिगत निवेशकों ने भी अपनी-अपनी भागीदारी दर्ज करवाई, जिसमें अंकुश सचदेवा (ShareChat), ग़ज़ल अलघ (Mamaearth), Meesho के सह-संस्थापक – विदित आत्रे और संजीव बरनवाल आदि कई दिग्गज शामिल रहे।

Wishlink की शुरुआत आईआईटी-दिल्ली के पूर्व छात्र रहे चंदन यादव (Chandan Yadav), शौर्य गुप्ता (Shaurya Gupta) और दिव्यांश अमेता (Divyansh Ameta) ने मिलकर की थी।

wishlink

यह स्टार्टअप मुख्य रूप से ऑनलाइन क्रीएटर्स को अपने मल्टी-ब्रांड स्टोर को उनके ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से आसानी से जोड़ने की सहूलियत देता है, ताकि क्रीएटर्स साझेदार ब्रांडों के लिए कॉमर्स वॉल्यूम को प्रभावी रूप से बढ़ा सकें।

कंपनी के सह-संस्थापक शौर्य गुप्ता ने अनुसार;

“हमने एक ऐसा बुनियादी ढांचा तैयार किया है, जो क्रीएटर्स को ब्रांड चुनने से लेकर, उसे अपने दर्शकों के सामने प्रदर्शित करने, और बिक्री से लेकर ट्रैफिक के आधार पर राजस्व कमाई को अधिक प्रभावी और सरल बनाता है।”

वर्तमान समय में Wishlink लगभग 100 से अधिक क्रीएटर्स के साथ काम करते हुए H&M, Westside, Faballey, Indya, Aurelia समेत 60 से अधिक ब्रांडों और Amazon, Flipkart तथा Ajio जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफ़ॉर्मों के लिए बिक्री के आँकड़े को बढ़ाने में मदद कर रहा है।

दिलचस्प रूप से इस क्रीएटर्स-केंद्रित स्टार्टअप का ये भी दावा है कि पिछले तीन महीनों में इसने 60% मासिक वृद्धि दर दर्ज करते हुए, करीब 20 लाख उपयोगकर्ताओं को साझेदार ब्रांडों के प्रोडक्ट्स के लिए प्रेरित किया है।

इस बात में कोई शक नहीं कि जिस रफ्तार से भारत में ऑनलाइन क्रीएटर्स की कम्यूनिटी बड़ी हो रही है और इन क्रीएटर्स व तमाम ब्रांडों के बीच साझेदारियों का आँकड़ा बढ़ रहा है, Wishlink के लिए विकास की आपार संभावनाएँ देखी जा सकती है।