smart-parking-startup-parkmate-raises-funding
Image Credit: ParkMate

Startup Funding – ParkMate: स्मार्ट पार्किंग सेगमेंट उन चुनिंदा क्षेत्रों में गिना जाता रहा है, जिसमें आने वाले सालों में तेज वृद्धि की संभावनाएँ देखी जा रही हैं। और इन्हीं संभावनाओं पर अब निवेशकों ने दाव लगाना भी शुरू कर दिया है।

इसी क्रम में अब स्मार्ट पार्किंग समाधान की पेशकश करने वाले स्टार्टअप ParkMate ने भी EvolveX के जरिए सीड फंडिंग हासिल की है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

आपको बता दें EvolveX असल में निवेशक फर्म, We Founder Circle द्वारा शुरू किया गया एक ‘ग्लोबल एक्सेलरेटर प्रोग्राम है। साफ कर दें कि स्टार्टअप या निवेशक की ओर से निवेश की राशि का खुलासा नहीं किया गया है।

दिलचस्प ये है कि इस स्टार्टअप को संबंधित बाजार की चुनौतियों से निपटने व अन्य प्रतिद्वंदी कंपनियों से मुकाबला करने में मदद करने के लिए We Founder Circle ने कई रणनीतिक एंजेल निवेशकों के साथ भागीदारी भी की है।

ParkMate के स्मार्ट पार्किंग समाधान को इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ता अपने गंतव्य क्रेडेंशियल दर्ज कर सकते हैं, और जब वो पार्किंग वाले स्थान पर पहुंच जाते हैं तो वहाँ पार्किंग को लेकर उनकी मदद करने के लिए कंपनी उन्हें एक समर्पित पार्किंग सहायक प्रदान करती है।

ParkMate के वे सहायक न सिर्फ उपयोगकर्ता के वाहन को निकटतम पार्किंग स्थान तक ले जाते हैं, बल्कि उसे उचित रूप से पार्क भी करते हैं।

ParkMate

नए निवेश की बात करें तो यह स्टार्टअप प्राप्त की गई धनराशि का इस्तेमाल मुख्य रूप से अपनी टीम का विस्तार करने और विभिन्न प्रोफाइल के तहत नई प्रतिभाओं को जोड़ने के लिए करने का मन बना रहा है। इसके साथ ही कंपनी का इरादा अपनी पेशकश संबंधित तकनीक को और अधिक मजबूत बनाने का भी है।

इस नए निवेश को लेकर स्टार्टअप के सह-संस्थापक और सीईओ, धनंजय भारद्वाज (Dhananjaya Bharadwaj) ने कहा,

“हमारी तकनीक और इनोवेशन पर हमें पूरा विश्वास है, और अब We Founder Circle की मदद व मार्गदर्शन के जरिए, हम यह सुनिश्चित कर सकेंगें कि हम सही दिशा में अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते रहें।”

वहीं We Founder Circle की सह-संस्थापक, भावना भटनागर (Bhawna Bhatnagar) ने अपने बयान में कहा;

“हम ParkMate में किए गए अपने निवेश को लेकर बेहद उत्साहित हैं। इस कंपनी ने स्पष्ट रूप से मांग और आपूर्ति के अनुपात को ध्यान में रखते हुए, पार्किंग की समस्या को हल कर सकने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है।”

“हम सब जानते हैं कि अधिकांश भारतीय शहरों में अनियंत्रित और बेतरतीब पार्किंग की स्थिति है, जिससे लोगों को किसी भी जगह, किसी भी तरीके से, किसी भी तरह के वाहन को पार्क करने के लिए मजबूर होना पड़ता है।”