legal-tech-startup-lawyered-raises-funding

Startup Funding – Lawyered: आज के दौर में डिजिटल तकनीक व इनोवेशन सिर्फ कुछ चुनिंदा क्षेत्रों तक सीमित ना रहते हुए, अन्य तमाम सेगमेंट्स द्वारा भी तेजी से अपनाए जा रहे हैं।

इसी क्रम में अब भारत के लीगल टेक स्टार्टअप Lawyered ने अपने प्री-सीरीज फंडिंग राउंड में $1 मिलियन (लगभग ₹7.5 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

आपको बता दें इस स्टार्टअप को यह निवेश Finvolve के सह-संस्थापक, अपूर्व वोरा (Apoorva Vora) से मिला है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

गुरुग्राम आधारित Lawyered की शुरुआत हिमांशु गुप्ता (Himanshu Gupta) द्वारा की गई थी। कंपनी अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हुए कानूनी सलाह/मदद चाहने वालों को कानूनी पेशेवरों से जोड़ने का काम करता है।

Lawyered

इसके प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हुए उपयोगकर्ता अपनी आवश्यकताओं को शेयर करते हुए, प्लेटफॉर्म पर मौजूद सत्यापित वकीलों से फ्री प्रपोजल हासिल कर सकते हैं।

इतना ही नहीं बल्कि इस स्टार्टअप ने हाल ही में “लॉयर (वकील) ऑन-द-स्पॉट” (LOTS) सर्विस भी शुरू की है, जिसके तहत उपयोगकर्ता ऑन-रोड कानूनी सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

कंपनी के मुताबिक, “लॉयर (वकील) ऑन-द-स्पॉट” (LOTS) सुविधा के जरिए लॉजिस्टिक्स और ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री की दिक्कतों को दूर करने की कोशिश की जा रही है।

इसके तहत कंपनी ने AITWA (ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन) के साथ भागीदारी भी की है और उनके साथ मिलकर काम करते हुए यह सुनिश्चित कर रही है कि इसकी सेवाएँ कमर्शियल वाहन मालिकों की संबंधित सभी समस्याओं को सफलतापूर्वक हल किया जा सके।

Lawyered ने कई स्टार्टअप्स और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) के साथ भी साझेदारी की है और उन्हें तमाम मुद्दों को लेकर कानूनी मदद प्रदान करता है।

कंपनी के कुछ प्रमुख भागीदारों में WeWork और India Accelerator जैसे दिग्गज नाम शामिल हैं। इतना ही नहीं बल्कि कंपनी कुछ शैक्षणिक संस्थान जैसे XLRI, IIT और IIM को भी अपने साझेदारों की सूची में शामिल किए हुए है।

कंपनी की मानें तो इसका मकसद कानूनी इंडस्ट्री से संबंधित पेशेवरों और लोगों के बीच संवाद के तरीके को बदलना और उसे अधिक भरोसेमंद बनाना है। आसान भाषा में हम कह सकते हैं कि यह स्टार्टअप दोनों पक्षों के बीच मौजूद एक तरीके के ‘ट्रस्ट डेफिसिट’ को पाटने की कोशिश करता है।

कंपनी की आगामी योजनाओं पर बोलते हुए, Lawyered के सीईओ और संस्थापक हिमांशु गुप्ता ने कहा;

“हमारा मिशन ‘कानूनी रूप से सभी को सशक्त बनाने’ का है, और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि देश में प्रत्येक व्यक्ति के लिए कानूनी मदद तक पहुंच उपलब्ध हो।”

वहीं Finvolve के सह-संस्थापक, अपूर्व वोरा ने कहा;

“जिस तरह ‘रोड-साइड असिस्टेंस’ ने गाड़ी संबंधित तकनीकी खराबी को ठीक करने की प्रक्रिया को आसान बनाया जाता है, ठीक वैसे ही ‘लॉयर (वकील) ऑन-द-स्पॉट’ (LOTS) सेवा भी ट्रक इंडस्ट्री के लिए एक वरदान साबित हो रही है।”

“हमें यह जानकर वाकई हैरानी हुई कि इन ऑन-रोड कानूनी मुद्दों के कारण लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री को हर साल लगभग $35 बिलियन का नुकसान झेलना पड़ता है। लेकिन इस स्टार्टअप पिछले 8 महीनों में 2 मिलियन से अधिक ट्रिप दर्ज करते हुए, हमारे विश्वास को मजबूत किया है।”