social-commerce-startup-winuall-raises-rs-17-crore-in-funding
Image Credit: Winuall

Startup Funding – Winuall: भारत में सोशल कॉमर्स सेगमेंट काफी तेजी से ईकोसिस्टम में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहा है। इसी के ताजा उदाहरण के तौर पर अब शिक्षकों को छात्रों के बीच कई तरह के क्यूरेटेड कोर्स आदि की पेशकश करने की सहूलियत देने वाले सोशल कॉमर्स प्लेटफॉर्म Winuall ने ₹17 करोड़ का निवेश हासिल किया है।

कंपनी को यह निवेश Dream Incubator, Inflection Point Ventures समेत Prime Venture Partners, BEENEXT व अन्य मौजूदा निवेशकों से मिला है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

इस स्टार्टअप के अनुसार, प्राप्त किए गए इस फंड का इस्तेमाल प्रोडक्ट और तकनीकी क्षमताओं को बढ़ाने, टीम का विस्तार करने और अधिक से अधिक क्रीएटर्स, कंटेंट-प्रदाता व शिक्षकों को जोड़ने की दिशा में किया जाएगा।

Winuall की शुरुआत साल 2019 में अश्विनी पुरोहित (Ashwini Purohit) और सौरभ व्यास (Saurabh Vyas) ने मिलकर की थी।

इस कंपनी का मुख्य मकसद असल में नई तकनीकों का इस्तेमाल करते हुए ट्यूटर्स को उनके व्यवसाय को बढ़ाने व सहज बनाने में मदद प्रदान करने का है, जिससे छात्रों और ट्यूटर्स दोनों को शिक्षण के लिहाज़ से कंटेंट और लर्निंग को लेकर बेहतर अनुभव मिल सके।

कंपनी ने पिछले छह महीनों में अपने सोशल कॉमर्स प्लेटफॉर्म को अपनाने के पैमानें में 100% की मासिक वृद्धि दर्ज की है, साथ ही दिलचस्प यह है कि इससे जुड़े शिक्षकों ने भी अपनी आय में 50% तक भी वृद्धि दर्ज की है।

 Winuall
Image Credit: Winuall

इसके मार्केटप्लेस की मदद से ट्यूटर अब अपने छात्रों को 1200 से अधिक शिक्षकों द्वारा बनाए गए 45,000 से अधिक कोर्स के साथ कंटेंट को अत्यधिक क्यूरेटेड रूप में प्रदान कर पाते हैं।

कंपनी ने अकेले पिछले 4 महीनों में ही 35,000 से अधिक पाठ्यक्रम (कोर्स) और कंटेंट की बिक्री दर्ज की है और अब तक ₹38.5 करोड़ से अधिक जुटानें में कामयाब रही है।

इस निवेश को लेकर Winuall के सीईओ, अश्विनी पुरोहित ने कहा;

“एक ऐसी दुनिया, जहाँ हर दिन अच्छे कंटेंट को लेकर प्रतिस्पर्धा तेजी से बढ़ती जा रही है, ऐसे में हम ट्यूटर्स के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म बनाना चाहते हैं जो उनके द्वारा पेश किए जाने वाले पाठ्यक्रमों अधिक सहज बनाते हुए, उनके कमाई के अवसरों को बढ़ाने में मदद करे।”

“हम एक मजबूत सप्लाई के साथ एक कंटेंट बाजार का निर्माण कर रहे हैं, जिसके लिए हम उपयोगकर्ता पैटर्न को समझते हुए छात्रों को सबसे बेहतर कंटेंट की सिफारिश करते हैं। हमारे इस सोशल कॉमर्स मॉडल के साथ शिक्षकों और छात्रों दोनों को फ़ायदा मिल रहा है।”