healthcare-startup-yostra-labs-raises-rs-4-crore-funding

Startup Funding – Yostra Labs: हेल्थकेयर जगत में कार्यरत स्टार्टअप बीते कुछ सालों में व्यापक रूप से निवेशकों का ध्यान आकर्षित करते नजर आए हैं।

इसी क्रम में अब बेंगलुरु आधारित हेल्थकेयर स्टार्टअप Yostra Labs ने अपने सीड फंडिंग राउंड में ₹4 करोड़ का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी को यह निवेश Indian Angel Network के नेतृत्व में मिला है। साथ ही इस निवेश दौर में Centre for Cellular and Molecular Platforms समेत अन्य निवेशकों ने भी भागीदारी दर्ज करवाई।

कंपनी के मुताबिक, प्राप्त की गई इस पूँजी का इस्तेमाल बिक्री और मार्केटिंग टीमों का विस्तार करने, कंपनी की बाजार पहुंच का विस्तार करने, उत्पाद पोर्टफोलियो के व्यावसायीकरण और उत्पादकता को बढ़ाने आदि के लिए किया जाएगा।

Yostra Labs की शुरुआत साल 2014 में विनायक नंदलाइक (Vinayak Nandalike), मोहन राव (Mohan Rao), संजय शर्मा (Sanjay Sharma) और मारुथी (Maruthy) ने मिलकर की थी।

इस स्टार्टअप को असल में एक मेडिकल डिवाइस फर्म के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जिसके पास पेरिफेरल न्यूरोपैथी के निदान व प्रबंधन और पैर के अल्सर जैसी जटिलताओं के लिए पेटेंट उत्पादों का पोर्टफोलियो है।

इस स्टार्टअप का दावा है कि इसके डिवाइस के जरिए देश भर में तमाम क्लीनिक, निजी और सरकारी अस्पतालों और डायग्नोस्टिक केंद्रों में 40,000 से अधिक रोगियों की जांच की गई है।

कंपनी का प्रमुख उत्पाद, NEURO TOUCH है, जो असल में छोटे और बड़े फाइबर पेरिफेरल न्यूरोपैथी के लिए एक व्यापक जांच उपकरण है, जो मधुमेह (डायबिटिक) न्यूरोपैथी निदान में मदद करता है।

Yostra Labs

वहीं VELOX Care डायबिटिक फुट अल्सर जैसे पुराने घावों के उपचार के लिए तैयार किया गया एक उन्नत समाधान है।

इस बीच Yostra Labs के संस्थापक, विनायक ने कहा;

“Yostra ने डायबिटिक फुट संबंधित जटिलताओं के निदान और उपचार के लिए नवाचार विकसित किए हैं। IAN व अन्य निवेशकों द्वारा जताए गए इस भरोसे के साथ अब हम अपने परिचालन को बढ़ाने और बाजार में अपनी पहुंच का विस्तार करने की योजना बना रहे हैं।”

इस निवेश दौर का नेतृत्व करने वाले Indian Angel Network की बात करें तो इसकी शुरुआत 2006 में की गई थी, जो मौजूदा समय में भारत के स्टार्टअप इकोसिस्टम में बतौर प्रमुख निवेशक गिना जाता है।

लगभग 12 देशों के निवेशकों के साथ, यह नेटवर्क सात स्थानों में फैला हुआ है, जिसमें भारत और यूके जैसे देशों के प्रमुख शहर शामिल हैं।