organic-food-startup-organic-kitchen-raises-rs-7-crore-in-funding

Startup Funding – Organic Kitchen: देश में ऑर्गेनिक फूड बाजार ने बीते कुछ सालों में तेज वृद्धि दर्ज की है, जिसकी सीधी-सी वजह ये है कि अधिक से अधिक ऑर्गेनिक खाद्य उत्पादों को अपनाने को लेकर लोगों का रुझान बढ़ रहा है। और बढ़ते ग्राहक आधार को देखते हुए, निवेशकों ने भी इन स्टार्टअप्स पर भरोसा जताना शुरू कर दिया है।

इसी क्रम में अब गुरुग्राम ऑर्गेनिक फूड स्टार्टअप Organic Kitchen ने अपने सीड फंडिंग राउंड में $1 मिलियन (लगभग ₹7 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

आपको बता दें कंपनी को यह निवेश सिद्धार्थ चौधरी, अभिषेक ढाका और नितिन सहजवानी जैसे कुछ नामी एंजेल निवेशकों से मिला है।

इस स्टार्टअप के अनुसार, प्राप्त की गई इस पूँजी का इस्तेमाल प्लेटफ़ॉर्म संबंधित टेक्नोलॉजी को बेहतर बनाने, उपभोक्ता व किसान ऐप विकसित करने और अपने प्रोडक्ट रेंज का 250 से अधिक प्रमाणित ऑर्गेनिक फलों, सब्जियों और किराने के सामान तक विस्तार करने के लिए किया जाएगा।

इसके साथ ही कंपनी का इरादा चार कृषि-जलवायु क्षेत्रों – सोलन (हिमाचल प्रदेश), नवलगढ़ (राजस्थान), पल्ला (दिल्ली), और सुंदाना (हरियाणा) में किसानों के समूहों (क्लस्टर) को विकसित करने का भी है, जिससे ऑर्गेनिक फूड प्रोडक्ट्स के लिए सप्लाई चेन रणनीति को मजबूत किया जा सके।

दिलचस्प रूप से कंपनी के लिए ये क्षेत्र न सिर्फ सप्लाई होने वाले उत्पादों के प्रमाणीकरण को बेहतर बनाएँगे, बल्कि बैक-एंड के लिए मार्केटिंग टूल के रूप में भी काम कर सकेंगें।

असल में इन तमाम केंद्रों के ज़रिए कंपनी किसानों की प्रोफाइल बनाने, उन्हें ऑर्गेनिक खेती में प्रशिक्षित करने और उनके दरवाजे से ही उनके उत्पाद को सोर्स करने जैसी चीजों पर काम करती नजर आएगी।

बतौर निवेशक इस दौर में शामिल होने वाले सिद्धार्थ चौधरी ने कहा;

“इन दिनों ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स की माँग बड़े पैमाने पर बढ़ रही है, और यह स्टार्टअप किसानों के खेतों से सीधे ग्राहकों की रसोई तक प्रामाणिक ऑर्गेनिक उत्पादों को पहुंचाने के अपने मिशन के तहत सटीक मार्ग पर आगे बढ़ रहा है।”

Organic Kitchen raises $1 million funding

इस निवेश को लेकर Organic Kitchen के सह-संस्थापक, कृष्णांक अत्रे (Krishnank Atrey) ने कहा;

“बढ़ती माँग के साथ ही अब इस निवेश के बाद, हम एक लाभदायक सप्लाई चेन बनाने और अपनी अखिल भारतीय खरीद और आपूर्ति प्रक्रिया को मजबूत करने की दिशा में काम करेंगे।

“इसके तहत कंपनी करीब 35 प्रमुख भारतीय शहरों, 15 कृषि-जलवायु क्षेत्रों, 150 कृषि केंद्रो में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाएगी। हमारी टीम 12 लाख से अधिक किसानों को जोड़ने और हमारी दीर्घकालिक योजनाओं के अनुरूप 1 करोड़ ग्राहक आधार के आँकड़े को छूने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।”