chinese-firms-plan-to-shift-smartphone-manufacturing-out-of-india

India may ban Chinese smartphones under Rs 12,000?: इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता है कि मौजूदा समय में अधिकांश भारतीय लोग किफायती चीनी स्मार्टफोनों का इस्तेमाल करते हैं। भारतीय स्मार्टफोन बाजार में चीन आधारित ब्रांड्स की लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण है, बेहद कम कीमतों पर बेहतरीन फीचर्स वाले स्मार्टफोनों की पेशकश!

लेकिन अब ऐसा लगता है कि भारत सरकार ने चीनी कंपनियों को एक और बड़ा झटका देने का मन बना लिया है। असल में सामने आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में जल्द ही सरकार ₹12,000 से कम कीमत वाले चीनी स्मार्टफोन्स को बैन करने का ऐलान कर सकती है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

जी हाँ! Bloomberg की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, कथित तौर पर भारत सरकार घरेलू ब्रांडों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए चीन की कंपनियों के कम कीमत वाले स्मार्टफोन्स (₹12,000 से कम) को प्रतिबंधित कर सकती है।

इस रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले के कहा गया है कि;

“भारत सरकार देश के भीतर लड़खड़ाते घरेलू उद्योग को फिर से मजबूती प्रदान करने के लिए चीनी कंपनियों को देश के भीतर ₹12,000 (लगभग $150) से कम कीमत वाले डिवाइस बेचने से प्रतिबंधित कर सकती है।”

इस बात में कोई शक नहीं कि अगर ये अटकलें सही साबित होतीं हैं, तो इस संभावित फैसले का सबसे व्यापक असर Xiaomi, Vivo, Oppo, Poco, Redmi, Realme जैसी कंपनियों पर पड़ता नजर आएगा। इसके साथ ही कहीं न कहीं भारत के एक बड़े स्मार्टफोन उपयोगकर्ता वर्ग के लिए भी कम कीमत पर बेहतर फोनों के विकल्पों में भारी कमी देखनें को मिल सकती है।

xiaomi-to-soon-offer-gold-loans-credit-line-cards-insurance-products
Credits: Wikimedia Commons

जानकारों के अनुसार, अगर ऐसा होता है तो घरेलू ब्रांड्स जैसे Micromax, Lava, Karbonn आदि एंट्री लेवल सेगमेंट में बिक्री संबंधित तेज उछाल दर्ज करते दिखाई देंगे।

ये इसलिए भी दिलचस्प हो जाता है क्योंकि वर्तमान में भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टफोन बाजार है, और यहाँ अधिकांश बाजार हिस्सेदारी चीनी कंपनियों के पास ही है।

बता दें हाल में ही भारत सरकार की जाँच एजेंसी ने Vivo समेत कुछ दिग्गज चीनी कंपनियों पर वित्तीय अनियमितता और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे आरोप लगाए थे, जिसको लेकर जाँच अभी भी जारी है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक लिखित उत्तर में ये जानकारी दी थी कि डीआरआई द्वारा की गई जांच के आधार पर Oppo Mobiles India को ₹4,403.88 करोड़ जैसी भारी भरकम राशि के संबंध में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है, जबकि Xiaomi Technology India के खिलाफ सीमा शुल्क चोरी को लेकर पांच मामले दर्ज किए गए हैं।

पर गौर करने वाली बात ये भी है कि कुछ वैश्विक मीडिया रिपोर्ट्स में इस मामले को लेकर एक दूसरा पहलू भी पेश किया गया है।

इन रिपोर्ट्स के अनुसार, अभी तक ये साफ तौर पर नहीं कहा जा सकता है कि भारत सरकार चीनी स्मार्टफोन निर्माताओं पर ऐसा कोई बैन लगाने के लिए प्रत्यक्ष रूप से किसी पॉलिसी का ऐलान करेगी या फिर इसके लिए अनौपचारिक चैनलों का इस्तेमाल किया जाएगा?

असल में साल 2020 के बाद से ही भारत ने TikTok, PUBG समेत 200 से अधिक नामी चीनी ऐप्स को देश में बैन कर रखा है, जिसमें सबसे हालिया बड़ा नाम BGMI का भी है। वैसे कुछ ही दिनों पहले ये सामने आया था कि BGMI और TikTok देश में वापसी करते नजर आ सकते हैं।

लेकिन ऐप्स को बैन करने के बाद क्या सरकार अब हार्डवेयर सेगमेंट में भी ऐसा कुछ क़दम उठाएगी की नहीं, इसको लेकर कुछ भी ठोस तौर पर कहना जल्दबाजी ही होगी।

1 comment

Comments are closed.