chattybao-raises-rs-39-crore-in-funding

Startup Funding – ChattyBao: भारत में ई-कॉमर्स सेगमेंट अपने पारंपरिक तरीकों से अलग भी अन्य कई नए स्वरूपों में बढ़ता नजर आ रहा है। इसी के ताजा उदाहरण के रूप में अब स्थानीय व्यवसायों को बढ़ावा देने वाले ई-कॉमर्स या शॉपिंग स्टार्टअप ChattyBao ने अपने सीड फंडिंग राउंड में $5 मिलियन (लगभग ₹39 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

WhatsApp आधारित ई-कॉमर्स सेवाओं की पेशकश करने वाले इस स्टार्टअप को यह निवेश Info Edge Ventures और Vertex Ventures South East Asia & India के साझा नेतृत्व में मिला है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

इनके साथ ही निवेश दौर में 7Square Ventures समेत कुछ दिग्गज ऐंजल निवेशकों ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

दिल्ली आधारित इस स्टार्टअप के अनुसार, हासिल किए गए इस निवेश का इस्तेमाल मुख्य रूप से प्रोडक्ट डेवलपमेंट और दो से तीन टियर-1 और टियर 2 शहरों में खुद का ऐप लॉन्च करने के लिए किया जाएगा।

ChattyBao की शुरुआत साल 2021 में Paytm के पूर्व चीफ बिजनेस ऑफिसर, कुमार आदित्य (Kumar Aditya) और B Capital Group के पूर्व निदेशक वरुण गुप्ता (Varun Gupta) ने मिलकर की थी।

ChattyBao

यह स्टार्टअप उपयोगकर्ताओं को स्थानीय व्यवसायों (दुकानों) से जोड़ता है, और उन्हें फिलहाल WhatsApp पर ही खरीदारी कर सकनें की सहूलियत प्रदान करता है।

कंपनी के अनुसार, उपयोगकर्ता कई सारी ऐप्स डाउनलोड किए बिना, सिर्फ कंपनी के WhatsApp नम्बर का इस्तेमाल करते हुए अपने आसपास के स्थानीय व्यवसायों (ऑफलाइन दर्जी, सब्जी विक्रेताओं, फार्मेसियों आदि) को सर्च कर सकते हैं, उन व्यवसाय मालिकों के साथ चैट कर सकते हैं, सामान ऑर्डर व ऑनलाइन पेमेंट करते हुए होम डिलीवरी की सुविधाएँ प्राप्त कर सकते हैं।

ChattyBao

स्टार्टअप फिलहाल स्टील्थ मोड में ही काम कर रहा है, लेकिन इसका ऐप आगामी अगस्त के तीसरे हफ्ते तक में लॉन्च किए जाने की उम्मीद जताई जा रही है।

इस निवेश को लेकर कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ, कुमार आदित्य ने कहा;

“भारत में स्थानीय व्यवसायों में नजर आने वाले उद्यमशीलता की भावना ने उन्हें हमेशा बड़े खिलाड़ियों से प्रतिस्पर्धा में जीवित रहने और लड़ने में मदद की है।”

“ChattyBao के जरिए हम स्थानीय व्यवसायों द्वारा अपने उपयोगकर्ताओं को ई-कॉमर्स सेवा प्रदान करने की उनकी क्षमता को बढ़ाने का काम रहे हैं, जिससे उन्हें इस ऑनलाइन सेगमेंट में बड़े खिलाड़ियों के साथ प्रभावी ढंग से प्रतिस्पर्धा करने में मदद मिल सके।”