dominos-india-may-left-zomato-and-swiggy
Image Credit: Wikimedia Commons

Domino’s India vs Zomato & Swiggy: फूड डिलीवरी ऐप आज के दौर में लोगों के जीवन का अहम हिस्सा हो गए हैं। भारत में अधिकांश लोगों के स्मार्टफोन पर आजकल Swiggy, Zomato या ऐसे तमाम फूड डिलीवरी ऐप्स जरूर मिल जाएँगे।

लेकिन इतनी लोकप्रियता के बाद भी, Zomato और Swiggy जैसे प्लेटफ़ॉर्मों के लिए राह आसान नजर नहीं आ रही है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

सामने आई एक नई खबर के अनुसार, Domino’s India भी अब Zomato और Swiggy से दूरी बनाने की तैयारी में है। जिसका मतलब ये हो सकता है कि शायद आपको Zomato और Swiggy पर Domino’s Pizza ऑर्डर कर सकने का विकल्प आने वाले दिनों में नजर ना आए।

हम ऐसा इसलिए कह रहें हैं क्योंकि Reuters की एक नई रिपोर्ट में एक पत्र के हवाले से ये सामने आया है कि Domino’s Pizza India फ्रैंचाइज़ी अपने कुछ व्यवसाय को Zomato और Swiggy आदि से हटाने का मन बना रही है।

इसका आधार भारत में Domino’s और Dunkin’ Donuts चेन का संचालन करने वाली चलाने वाली Jubilant FoodWorks द्वारा भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) को दायर की गई एक गोपनीय फाइलिंग को बताया गया है।

 

zomato-defers-new-food-quality-policy-to-may-3

Jubilant भारत की सबसे बड़ी फूड सर्विस कंपनियों में से एक मानी जाती है, जो Domino’s Pizza India के 1,567 आउटलेट और Dunkin’ Donuts के 28 आउटलेट समेत 1,600 से अधिक ब्रांडेड आउटलेट का संचालन करती है।

आपको बता दें CCI पहले से ही Zomato और Swiggy पर कथित रूप से प्रतिस्पर्धा-विरोधी प्रथाओं को अपनाने संबंधित आरोपों के ख़िलाफ जांच कर रहा है।

इसी जाँच की कड़ी में CCI ने जब Domino’s India फ्रैंचाइज़ी और कई अन्य रेस्तरां भागीदारों से जवाब मांगे तो Jubilant ने नियामक को बताया कि भारत में उसके कुल कारोबार का 26-27% ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से ही आता है, जिसमें उसके खुद के अपना मोबाइल ऐप और वेबसाइट भी शामिल हैं।

रिपोर्ट में बताया गया कि इसी पत्र में कंपनी द्वारा CCI को बताया गया कि Zomato, Swiggy आदि पर अगर कमीशन दरों में वृद्धि होती है, तो ऐसे हालात में Jubilant अपने अधिक से अधिक व्यवसायों को थर्ड पार्टी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से इन-हाउस ऑर्डरिंग सिस्टम पर स्थानांतरित करने पर विचार करेगा।

वैसे ये साफ कर दें कि ये तमाम अपडेट मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर सामने आईं हैं, अभी तक Jubilant FoodWorks, Zomato, Swiggy या CCI की ओर से इस मुद्दे पर किसी भी तरह का कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

लेकिन इतना साफ है कि भले ऑनलाइन ऑर्डरिंग सेगमेंट में कूपन व डिस्काउंट के बढ़ते प्रचलन के बाद भी Zomato और Swiggy के लिए भारतीय बाजार में राह इतनी भी आसान नहीं होने वाली।

1 comment

Comments are closed.