edtech-startup-vidyakul-raises-rs-12-crore-funding

Startup Funding – Vidyakul: भारत एडटेक क्षेत्र के लिए एक बड़ा बाजार रहा है। और वक्त के साथ अब देश में स्थानीय भाषाओं में कोर्स इत्यादि की पेशकश करने वाले एडटेक स्टार्टअप भी तेज वृद्धि दर्ज करते नजर आए हैं।

इसी दिशा में अब, भारतीय स्थानीय भाषाओं पर आधारित ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म, Vidyakul ने अपने प्री-सीरीज ए राउंड में ₹12 करोड़ का निवेश हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व JITO Angel Network ने किया, जिसमें We Founder Circle, Indorama Capital Holdings समेत अन्य तमाम निवेशकों ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

गुरुग्राम आधारित Vidyakul की शुरुआत तरुण सैनी (Tarun Saini) और रमन गर्ग (Raman Garg) ने मिलकर की थी।

असल में इन्होंने यह देखा कि भारत में राज्य बोर्ड के छात्रों की संख्या केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के छात्रों की संख्या से लगभग 10 गुना अधिक होने के बाद भी गुणवत्ता के मामले में राज्य बोर्ड के छात्रों को अपनी-अपनी स्थानीय भाषाओं में पर्याप्त संसाधनों व एडटेक विकल्पों तक पहुँच की कमी का सामना करना पड़ता है।

Vidyakul अपने प्लेटफॉर्म पर हिंदी, गुजराती, भोजपुरी और हिंग्लिश जैसी भाषाओं लाइव लेक्चर्स और पहले से रिकॉर्ड किए गए कोर्स (कक्षा 9वीं – 12वीं तक के लिए) आदि की पेशकश करता है।

Vidyakul

इस निवेश को लेकर कंपनी के सह-संस्थापक, तरुण सैनी ने कहा;

“हम मुख्य रूप से एक ऐसा प्लेटफॉर्म बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं, जो सभी तरह के छात्रों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए सुविधाओं की पेशकश करे, और उन्हें क्लासरूम जैसा ही अनुभव मिल सके।”

“हम JITO Angel Network को धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने ना सिर्फ निवेश के ज़रिए हमारा समर्थन किया है, बल्कि राज्य बोर्ड के छात्रों के लिए प्रतिबद्ध विभिन्न व्यवसायों के साथ साझेदारी में भी काफी मदद की है।”

वहीं JITO Angel Network की ओर से पूजा मेहता (Pooja Mehta) ने अपने बयान में कहा;

“हमें गर्व है कि हम एक ऐसी कंपनी के साथ जुड़े हैं, जो भारत जैसे विविधता से भरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में ऐसे प्रयास कर रहा है। एक बड़े कंटेंट बैंक और क्षेत्रीय फोकस के साथ आगे बढ़ रहे Vidyakul पर हमें पूरा भरोसा है।”