elon-musk-cancels-twitter-deal

Elon Musk Cancels Twitter Deal: सबको चौंकाते हुए जिस तरह अचानक एलन मस्क (Elon Musk) ने माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) को खरीदने का ऐलान किया था, अब वैसे ही उन्होंने इस डील को टर्मिनेट या कहें तो रद्द करने की घोषणा भी कर दी है।

जी हाँ! $44 बिलियन में Elon Musk द्वारा Twitter को खरीदने संबंधित डील ने दुनिया भर का ध्यान अपनी ओर खींच रखा था, और लगभग हर दिन इससे जुड़ी खबरों व तमाम अटकलों का बाजार गर्म बना हुआ था। लेकिन अब Elon Musk ने खुद Twitter को खरीदने से इंकार कर दिया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन इस डील को Musk द्वारा रद्द किए जानें के पीछे की वजह का आंदाज़ा लगाना इतना मुश्किल नहीं है। हम ऐसा क्यों कह रहे हैं? आइए समझते हैं!

क्यों Elon Musk ने टर्मिनेट (रद्द) की Twitter अधिग्रहण डील?

कुछ ही समय पहले हमनें आपको पहले ही बताया था कि Elon Musk ने अस्थाई रूप से डील को कुछ समय के लिए होल्ड करते हुए, पहले Twitter से प्लेटफॉर्म पर मौजूद ‘फेंक या बॉट अकाउंट्स‘ संबंधित सटीक डेटा माँगा था।

मामला ये था कि Twitter के मुताबिक उसके प्लेटफॉर्म पर साल 2022 की पहली तिमाही तक लगभग 5% से कम ‘फेंक या बॉट अकाउंट्स’ मिले हैं, और यही बात कंपनी ने डील के दौरान भी कही थी। लेकिन कुछ जानकारो का ये दावा रहा है कि ये आँकड़ा आधिकारिक आँकड़े से कहीं अधिक बड़ा है।

twitter-india-gets-last-chance-to-comply-with-new-it-rules

ऐसे में Elon Musk ने Twitter पर संदेह व्यक्त करते हुए, कंपनी से इन तमाम मुद्दों पर एक सटीक जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा था। और अब ऐसा लगता है कि वह कंपनी द्वारा प्रदान किए गए डेटा से संतुष्ट नहीं हैं।

इस बीच Elon Musk के वकील, माइक रिंगलर (Mike Ringler) ने कहा;

“Musk इस डील को इसलिए रद्द कर रहे हैं क्योंकि Twitter ने उनके साथ किए गए समझौते की शर्तों का उल्लंघन किया है। कंपनी ने Elon Musk को गलत जानकारियाँ प्रदान करते हुए, गुमराह करने का काम किया है।”

Elon Musk Cancels Twitter Deal: क्या हो सकते हैं परिमाण?

दिलचस्प ये है कि इस दौरान ट्विटर के बोर्ड ने इस डील को अपनी मंजूरी देते हुए, इसको आगे की मंजूरी के लिए शेयरधारकों के पास भेजा दिया था। ऐसे में डील का यहाँ तक आकर रद्द हो जाना, इसको लेकर Twitter अब Musk के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का मन बना चुका है।

इसमें Twitter की ओर से ‘टर्मिनेशन पेनल्टी’ की भी मांग की जा सकती है। इसको लेकर खुद Twitter बोर्ड के अध्यक्ष ब्रेट टेलर (Bret Taylor) ने ट्वीट करते हुए लिखा;

“Twitter बोर्ड Musk के साथ सहमत शर्तों पर लेनदेन को अंतिम रूप देने के लिए प्रतिबद्ध है, ऐसे में इस मर्जर संबंधी समझौते को तोड़ने के लिए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की योजना बनाई जा रही है। हमें विश्वास है कि हम Delaware Court of Chancery में जीत हासिल करेंगे।”

असल में तमाम रिपोर्ट्स के मुताबिक, Elon Musk और Twitter की डील में यह शर्त थी कि अगर किसी भी पक्ष की ओर से इस डील को बिना किसी पुख्ता कारणों के बाद भी रद्द किया जाता है, तो उस पक्ष को सामने वाले पक्ष को $1 बिलियन की पेनाल्टी देनी होगी।