samsung-to-exit-feature-phone-market-in-india

Samsung to exit feature phone market in India?: भले आज का दौर पूरी तरह से स्मार्टफोन्स का कहा जाता हो, लेकिन आज भी भारत के बाज़ार में फीचर फोनों की माँग बनी हुई है। देश में आज भी बहुत से लोग अपनी-अपनी ज़रूरतों के हिसाब से ‘फीचर फोन’ ख़रीदते हैं। लेकिन आगामी समय में, देश के फीचर फोन बाज़ार को कथित रूप से एक बड़ा झटका लग सकता है।

असल में हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ख़बरों के मुताबिक़, दिग्गज़ दक्षिण कोरियाई ब्रांड, सैमसंग (Samsung) ने अब भारत के ‘फीचर फोन’ मार्केट को अलविदा कहने का मन बना लिया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

जी हाँ! ET Telecom की एक रिपोर्ट की मानें तो सैमसंग ने अब भारत में फीचर फोनों पर ध्यान देने के बजाए, पूरी तरह से स्मार्टफोन्स पर फोकस करने का प्लान तैयार किया है।

Samsung Feature Phone: क्या होंगें इसके मायनें?

Samsung द्वारा कथित रूप से आगामी समय में भारत में ‘फीचर फोनों’ के बाज़ार से हटने का मतलब ये होगा कि कंपनी देश में कोई भी नए फीचर फोन्स लॉन्च नहीं करेगी। साथ ही मौजूदा फीचर फोन्स मॉडलों के नए यूनिट्स भी मैन्युफ़ैक्चर नहीं किए जाएँगें।

रिपोर्ट में आगे यह भी कहा गया है कि Samsung इस कदम को क्रमवार तरीक़े से लागू करते हुए, साल 2020 में दिसंबर तक स्थानीय कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर Dixon के साथ फीचर फोन डिवाइसेज के आखिरी बैच का प्रोडक्शन करती नज़र आएगी, जिसके बाद कोई इन डिवाइसों का प्रोडक्शन बंद कर दिया जाएगा।

बताया ये गया है कि Samsung पहले ही देश में अपने चैनल पार्टनर्स के साथ इस विषय पर हुई कर चुकी है, और उन्हें इस कदम के बारे में जानकारी दे दी गई है।

सिर्फ ₹15,000 से अधिक कीमत वालें स्मार्टफोन्स लॉन्च करेगी Samsung?

इस रिपोर्ट में एक और बात कही गई है, जो भारत के ग्राहकों के लिहाज़ से बेहद दिलचस्प है। रिपोर्ट के मुताबिक़, फीचर फोन्स से हटने के बाद कंपनी अपना फोकस मुख्य रूप से ₹15,000 रुपये से अधिक कीमत वाले फोनों को लॉन्च करने में लगाएगी।

आप शायद यह सोच रहें हों कि भला इससे Samsung को फ़ायदा क्या हो सकता है? इसका जवाब काफ़ी दिलचस्प है। असल में ये दिग्गज़ इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी अब भारत में सरकारी योजनाओं के लाभ उठाने की तैयारी में है।

जानकारों के अनुसार, Samsung को अगर भारत सरकार की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना के लिए पात्र होना है, तो उसके द्वारा बनाए जाने वाले डिवाइसों का ‘फैक्ट्री प्राइस’ कम से कम ₹15,000 होना चाहिए, और यही कंपनी के कथित प्लान के पीछे का बड़ा कारण हो सकता है।

यह ख़बर ऐसे वक़्त में आई है जब कुछ ही दिनों पहले Counterpoint Research ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि भारत का फीचर फोन मार्केट सलाना दर से 39% तक गिरावट दर्ज कर रहा है।

इसके पीछे सप्लाई चेन से जुड़ी समस्याओं, मुद्रास्फीति और कम उपभोक्ता मांग को बड़ी वजह बताया गया है।

इसी रिपोर्ट में यह भी सामने आया कि भारत में सैमसंग (Samsung) की कुल बाजार हिस्सेदारी में 2022 की पहली तिमाही में 1% तक की गिरावट दर्ज की गई है। लेकिन इतना ज़रूर है कि यह लगातार दो तिमाहियों से भारत में सबसे ज्यादा 5G स्मॉर्टफोन बेचनें वाली कंपनी बनी हुई है।

ऐसे में सामने आई कथित अटकलों पर विश्वास और बढ़ जाता है क्योंकि Samsung के पास फीचर फ़ोन मार्केट को अलविदा कहने की पर्याप्त वजह नज़र आती हैं।

वैसे भी दुनिया मीन सबसे अधिक ‘फोल्डेबल स्मार्टफोन’ मॉडल्स रखने वाली कंपनी का यह प्रयास होगा कि कैसे भारत जैसे देशों में भी अपने इन अनोखे डिवाइसों को और लोकप्रिय बनाया जा सके।