elon-musk-resigns-as-twitter-ceo
Credits: Wikimedia Commons

Elon Musk – Twitter NDA violation case: बीते कुछ हफ़्तों से एलन मस्क (Elon Musk) और ट्विटर (Twitter), ये दोनों ही लगातार सुर्ख़ियाँ बटोर रहे हैं। और इस सिलसले की शुरुआत हुई Elon Musk द्वारा $44 बिलियन में Twitter को ख़रीदने के ऐलान के साथ।

लेकिन जब से Twitter को Elon Musk द्वारा ख़रीदे जाने की ख़बर सामने आई है, Elon Musk लगभग रोज़ ही अपने नए-नए Tweets के ज़रिए ख़बरों में छाए हुए हैं। कभी Twitter के भविष्य को लेकर तो कभी मौजूदा डील के संबंध में ही, कोई न कोई हैरान करने वाले अपडेट्स सामने आ ही जा रही हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

पर अब Elon Musk के लिए फिर से एक बार उनका ट्वीट, उनके लिए ही एक क़ानूनी समस्या खड़ी करता नज़र आ रहा है। दिलचस्प ये है कि उनके ट्वीट की शिकायत की है ख़ुद Twitter ने, जिसको Musk ख़रीदने का ऐलान कर चुके हैं।

असल में हुआ ये कि Elon Musk ने कुछ दिन पहले कुछ ट्वीट्स किए थे, जिनमें उन्होंने बताया था कि Twitter को ख़रीदने संबंधित डील अस्थाई रूप से रोक (होल्ड कर) दी गई है।

पर उन्हीं ट्वीट्स में से एक को लेकर अब Twitter की लीगल टीम ने Musk से शिकायत करते हुए कहा है कि उन्होंने उनके बीच हुए नॉन-डिस्क्लोजर एग्रीमेंट (NDA) की शर्तों का उल्लंघन किया है।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि Twitter की लीगल टीम ने Elon Musk की शिकायत की है, इस बात की जानकारी ख़ुद Musk ने ट्वीट करते हुए दी।

क्या होता है NDA (नॉन-डिस्क्लोजर एग्रीमेंट)?

आइए सबसे पहले तो आपको बता दें कि NDA (नॉन-डिस्क्लोजर एग्रीमेंट) होता क्या है? NDA को आप किन्ही दो या अधिक पक्षों के बीच हुए एक क़ानूनी कांटैक्ट (अनुबंध) की तरह ले सकते हैं, जिसके तहत दोनों पक्ष एक दूसरे से कुछ संवेदनशील व गोपनीय जानकारियाँ साझा करते हैं, लेकिन इस शर्त के साथ की किसी भी पक्ष द्वारा उसका सार्वजनिक रूप से ख़ुलासा नहीं किया जाएगा।

आख़िर Elon Musk ने डील के संबंध में ऐसी क्या गोपनीय जानकारी सार्वजनिक कर दी?

अब जब आपको NDA का असल मतलब पता चल गया है तो आप शायद सोच रहें तो कि आख़िर दुनिया के सबसे अमीर और Tesla व SpaceX जैसी कंपनियों के संस्थापक, Elon Musk ने ऐसी क्या गोपनीय जानकारी साझा कर दी कि Twitter की लीगल टीम को शिकायत करनी पड़ी?

आपको शायद याद हो कि Elon Musk ने अस्थाई रूप से डील को होल्ड करने के पीछे वजह ये बताई थी कि प्लेटफ़ॉर्म पर बहुत से फ़ेंक अकाउंट या बॉट मौजूद है, और डील पूरी होने के पहले दी ये जानना ज़रूर है कि इनकी संख्या कितनी है, इसलिए आगे बढ़ने से पहले इसका पता लाएगा जाएगा।

elon-musk-accused-by-twitter-legal-team-of-violating-nda

आपको बता दें कि Twitter के मुताबिक़ उसके प्लेटफ़ॉर्म पर साल 2022 की पहली तिमाही तक लगभग 5% से कम फेक अकाउंट मिले हैं। पर कुछ जानकारो का ये दावा रहा है कि ये आँकड़ा कहीं अधिक बड़ा है और इसलिए इसका पता लगाने का फ़ैसला किया गया है।

इस बीच एक यूजर के सवाल का जबाब देते हुए उन्होंने यह भी खुलासा कर दिया कि उनकी टीम रैंडम तौर पर 100 फॉलोअर्स का सैंपल साइज़ लेगी और फिर देखेगी कि कौन से फॉलोअर्स बॉट या फ़ेंक हैं?

अपने एक दूसरे रिप्लाई में उन्होंने यह भी लिख दिया कि उन्होंने 100 का सैंपल साइज इसलिए चुना है क्योंकि Twitter ख़ुद भी बॉट अकाउंट चेक करने के लिए यही सैंपल साइज इस्तेमाल करता है। बस यही बन गई इस पूरे विवाद की वजह!

मस्क में मुताबिक़ Twitter की लीगल टीम का कहना है कि ऐसे सैंपल साइज़ के आँकड़ो का ख़ुलासा करना NDA की शर्तों का उल्लंघन है।

ख़ैर! इसको लेकर अभी किसी तरह की कार्यवाई या क़ानूनी चुनौती की बात सामने नहीं आई है, पर देखना ये है कि क्या ये सब विवाद Elon Musk-Twitter डील पर कोई विपरीत प्रभाव डालेंगे?

3 comments

Comments are closed.