overseas-study-assistance-startup-foreignadmits-has-raised-rs-3-crore-funding

Overseas study assistance startup ForeignAdmits has raised Rs 3.26 crore: एडटेक क्षेत्र में ‘ओवरसीज स्टडी’ या ‘विदेशों में पढ़ाई’ से संबंधित सेगमेंट भी काफ़ी तेज़ी से लोकप्रिय होता नज़र आ रहा है।

इसी के एक हालिया उदाहरण के रूप में अब ओवरसीज स्टडी असिस्टेंस स्टार्टअप ForeignAdmits ने क़रीब ₹3.26 करोड़ का निवेश हासिल किया है।

कंपनी को यह निवेश मुंबई आधारित Unicorn India Ventures (UIV), बेंगलुरु आधारित SEA Fund व अन्य कुछ प्रमुख निवेशकों से मिला है।

के मुताबिक़, प्राप्त की गई इस नई पूँजी का इस्तेमाल कंपनी अपने टेक प्लेटफ़ॉर्म को बेहतर बनाते हुए, छात्रों और भागीदारों को एक अच्छा अनुभव प्रदान करने के लिए करेगी।

ForeignAdmits की शुरुआत साल 2020 में आईआईटी बॉम्बे के छात्र रहे अश्विनी जैन (Ashwini Jain) और आईआईटी भुवनेश्वर के पूर्व छात्र निखिल जैन (Nikhil Jain) द्वारा की गई थी।

ForeignAdmits

कंपनी असल में विदेशी कॉलेजों आदि में प्रवेश पाने वाले छात्रों और एजेंटों के लिए एक एंड-टू-एंड अब्रॉड स्टडी प्लेटफ़ॉर्म के रूप में काम करती है, जहां पूर्व अंतरराष्ट्रीय छात्रों के नेटवर्क द्वारा सलाह आदि भी प्राप्त की जा सकती हैं।

साथ ही यह कंपनी छात्रों को कॉलेज ऐप्लिकेशन के लिए डिजिटल रूप से आवेदन करने में मदद करता है और पोस्ट-वीजा तथा प्री-डिपार्चर सेवाएँ जैसे एजुकेशन लोन, विदेशी मुद्रा, स्वास्थ्य बीमा, क्रेडिट कार्ड और बैंक खातों जैसी सेवाओं को लेकर भी मदद करता है।

इस स्टार्टअप का दावा है कि इसने बीते 12 महीनों में विभिन्न व्यावसायिक विकास के पैमानों में 10 गुना तक की वृद्धि दर्ज की है।

फ़िलहाल इसके प्लेटफ़ॉर्म पर औसतन 2 लाख मासिक ट्रैफ़िक देखा जा रहा है, महीने-दर-महीने के हिसाब से 25% की दर के साथ बढ़ रहा है।

कंपनी ने संस्थापकों ने इस निवेश को लेकर कहा;

“टियर 2 और टियर 3 शहरों में रहने वालों छात्रों के पास मेट्रो शहरों में रहने वाले छात्रों की तुलना में एक्सपोजर और मार्गदर्शन काफ़ी सीमित है। यह यह सिर्फ़ भारत ही नहीं, दुनिया भर के देशों के लिए सच है।”

इस बीच अगर ForeignAdmits के नेटवर्क की बात की जाए तो इस लिस्ट में Columbia, Duke, CMU, Monash, University of Toronto और ASU जैसे दिग्गज नाम शुमार हैं।

कंपनी ने एक इंटीग्रेटेड स्टडी अब्रॉड गाइडेंस प्रोडक्ट (Integrated Study Abroad Guidance Product) भी लॉन्च किया है जो वित्तीय और कैरियर संबंधित क्षेत्रों में ‘परामर्श’ से लेकर ‘प्रवेश’ और ‘प्रवेश के बाद’ भी सहायता प्रदान करने का काम करता है।

दिलचस्प ये है कि इस नए निवेश के बाद कंपनी द्वारा जुटाया गया कुल निवेश अब लगभग ₹7.5 करोड़ पहुँच गया है। इसके पहले कंपनी ने Unicorn India से ₹3.5 करोड़ का सीड फ़ंड हासिल किया था।

वहीं निवेश को लेकर Unicorn India Ventures के मैनेजिंग पार्टनर, अनिल जोशी (Anil Joshi) ने कहा;

“दुनिया भर में छात्र टॉप वैश्विक विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा हासिल करने के अवसर खोज रहे हैं, हम इस कंपनी को इसलिए भी अपना समर्थन दे रहे हैं, क्योंकि यह विदेशी कॉलेजों में प्रवेश के मामले में हर आयामों को समाहित करते हुए आगे बढ़ रहा है।”