dental-tech-startup-toothsi-raises-rs-300-crore-funding

Dental tech startup Toothsi raises $40 mn funding: तकनीक आधारित डेंटल केयर स्टार्टअप Toothsi के द्वारा तेज़ी से निवेशकों का भरोसा जीतते हुए, अपना विस्तार करने का सिलसला जारी है। और इसी कड़ी में अब इस Toothsi ने अपने सीरीज़-सी निवेश दौर में $40 मिलियन (लगभग ₹300 करोड़) का एक बड़ा निवेश हासिल किया है।

कंपनी को यह पूँजी Eight Roads Ventures, Paramark, IIFL और Medlife ने संस्थापकों -प्रशांत सिंह व तुषार कुमार के फ़ैमली ऑफ़िस से प्राप्त हुई है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

वैसे इस निवेश दौर में कुछ मौजूदा निवेशक जैसे Think Investments सहित दिग्गज़ एंजेल निवेशकों ने भी अपनी भागीदारी दर्ज करवाई है।

कंपनी के अनुसार, प्राप्त किए गए इस धन को वह अपने तकनीकी प्लेटफ़ॉर्म और संचालनका विस्तार करने में इस्तेमाल करेगी। कंपनी यह भी सुनिश्चित करने के प्रयास करेगी कि उपचार के दौरान ग्राहकों के अनुभव को और सहज बनाया जा सके।

दिलचस्प रूप से यह स्टार्टअप ‘एलाइनर (Aligner) मैन्युफ़ैक्चरिंग’ के लिए ‘रोबोटिक ऑटोमेशन’ को लेकर भी नई पूँजी का उपयोग करने का मन बना रहा है।

Toothsi की शुरुआत साल 2018 में ऑर्थोडॉन्टिस्ट – डॉ. मंजुल जैन (Dr. Manjul Jain), डॉ. प्रवीण शेट्टी (Dr. Pravin Shetty), डॉ. अर्पी मेहता शाह (Dr. Arpi Mehta Shah) और डॉ. अनिरुद्ध काले (Dr. Anirudh Kale) ने मिलकर की थी।

इसको असल में एक डेंटल टेक कंपनी के तौर पर शुरू किया गया, जो ट्रांसपैरेंट 3D-प्रिंटेड क्लियर एलाइनर तकनीक का उपयोग करके ग्राहकों को घर पर ही दांतों को सही आकार देने की सेवाएं प्रदान करती है।

toothsi

इस स्टार्टअप का यह दावा है कि देश भर के भीतर अब तक 140,000 से अधिक ग्राहक इसकी स्माइल मेकओवर सुविधा को आज़मा चुके हैं।

फ़िलहाल कंपनी ने भारत में 2,000 से अधिक पार्टनर डेंटल सेंटर्स के साथ साझेदरी की हुई है, और आने वाले समय में यह टियर-II शहरों में अपने विस्तार को और तेज करती नज़र आएगी।

इस बीच नए निवेश को लेकर कंपनी की सह-संस्थापक और सीईओ, डॉ. अर्पी ने कहा;

“हमारा इरादा ‘कॉस्मेटिक डेंटल ट्रीटमेंट’ और ‘डरमेटोलॉजी (त्वचा संबंधित)’ क्षेत्र में डॉक्टरों द्वारा सुझाए जाने वाले समाधानों के लिए ‘वन-स्टॉप प्लेटफॉर्म’ के रूप में स्थापित होने का है।”

“हमारे निवेशकों का विश्वास हमें अपनी तरह का पहला ‘क्लिनिकल ब्यूटी टेक्नोलॉजी ब्रांड’ बनने के हमारे मिशन को बल डेटा है। इस नई पूँजी का इस्तेमाल हम नई जगहों व कैटेगॉरी में विस्तार तथा मज़बूत टीम के निर्माण के लिए करेंगें।”

बता दें Toothsi की ही सहायक ब्रांड है – ‘Skinnsi’ जो असल में ग्राहकों को घर पर ही लेजर-असिस्टेड कॉस्मेटोलॉजी सेवाएं प्रदान करने का काम करती है।