funding-news-deep-tech-startup-spyne

Spyne raises fresh funding: तेज़ी से बढ़ते ई-कॉमर्स के वर्चस्व में प्रोडक्ट ईमेज और वीडियो जैसी सेवाओं की माँग में भी इज़ाफ़ा देखने को मिला रहा है। और अब व्यवसायों और मार्केटप्लेसों को एआई आधारित हाई क्वॉलिटी प्रोडक्ट ईमेज और वीडियो बनाने की सेवा प्रदान करने वाले डीपटेक स्टार्टअप, Spyne ने $7 मिलियन (लगभग ₹53 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

दिलचस्प रूप से कंपनी के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व Accel ने किया। इसके साथ ही इस निवेश दौर में Storm Ventures, Smile Group, Pentathlon Ventures, Core91 समेत कुच अन्य एंजेल निवेशकों ने भी भागीदारी दर्ज करवाई।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के मुताबिक़, प्राप्त किए गए इस नए निवेश का इस्तेमाल टीम का विस्तार करने, अमेरिकी बाजार सहित वैश्विक स्तर पर विस्तार को बढ़ावा देने और रिसर्च एंड डेवेलप्मेंट जैसे कामों में करेगी।

इसके साथ ही कंपनी अब मेटावर्स (Metaverse) और ऑम्निवर्स (Ominiverse) उत्पादों के निर्माण आदि को लेकर भी अपने AR/VR तकनीक को व्यापाक बनाने में दिशा में आगे बढ़ना चाहती है।

बता दें साल 2018 में संजय कुमार (Sanjay Kumar) और दीप्ति प्रसाद (Deepti Prasad) ने मिलकर Spyne की शुरुआत की थी।

Spyne ने ऑटोमोटिव, फैशन और रिटेल इंडस्ट्री में तमाम बड़े ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस तक की मदद करने के लिए 100% स्वचालित और अपनी तरह के पहले एआई इमेज प्रोसेसिंग उत्पाद (AI Image Processing) टूल विकसित किए हैं, जो बिना भौतिक स्टूडियो के प्रोडक्ट्स की तस्वीरों की क्वॉलिटी को बढ़ाने की सेवा प्रदान करते हैं।

Spyne

गुरुग्राम आधारित इस स्टार्टअप के अनुसार वर्तमान में यह 15 देशों में Amazon India, Flipkart, Karvi, OLACars, SellAnyCar, Udaan, आदि सहित 80 से अधिक ग्राहकों को अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है।

इतना ही नहीं बल्कि कंपनी ने हाल ही में ऑटोमोटिव इंडस्ट्री के लिए अपनी सेल्फ-सर्व एआई तकनीक, Spyne AI Cars लॉन्च की है।

इस नए निवेश को लेकर कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ, संजय कुमार ने कहा;

“हमारी सोच यह है कि बिना किसी विशेषज्ञ या स्टूडियो आदि के सभी छोटे-मध्यम विक्रेताओं को बेहतर उत्पाद फ़ोटो और वीडियो बनाने के मामले में सशक्त बनाया जा सके।”

“इसके चलते अब छोटे विक्रेताओं को ऑनलाइन उत्पादों को बेचने और बड़े विक्रेताओं के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए महज़ के एक स्मार्टफोन की आवश्यकता होती है।”