paytm-denies-reports-of-data-leak-to-china-firms

Paytm Payments Bank denies reports of data leak to China firms: हाल में ये ख़बर आई कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) द्वारा नए ग्राहकों को जोड़ने पर रोक लगा दी गई है।

पर ये सोमवार को तब दिलचस्प हो गया जब Bloomberg की एक रिपोर्ट सामने आई जिसमें ये कहा गया कि RBI ने चीन की कंपनियों के साथ डेटा शेयरिंग के आरोप को लेकर Paytm Payments Bank पर जुर्माना लगाया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन ये ख़बर जब तेज़ी से तूल पकड़ने लगी, तभी अब ख़ुद Paytm ने अपनी तरफ़ से इसका खंडन कर दिया है।

असल में Bloomberg की एक रिपोर्ट में सूत्रों का हवाला देते हुए कहा गया है;

“भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा एक वार्षिक निरीक्षण के दौरान यह पाया गया कि Paytm Payments Bank के सर्वर चीन स्थित संस्थाओं के साथ जानकारी साझा कर रहे थे, जो अप्रत्यक्ष रूप से कंपनी में हिस्सेदारी रखते हैं।”

Paytm denies allegations regarding data leak to China firms

पर इसको लेकर डिजिटल पेमेंट सेगमेंट में दिग्गज़ नाम बन चुके Paytm की मूल कंपनी One97 Communications के प्रवक्ता की ओर से इन आरोपों से इनकार किया गया है। प्रवक्ता ने कहा;

“सामने आई ये रिपोर्ट “पूरी तरह से झूठी” और महज़ “सनसनीखेज” है।

“Paytm Payments Bank को पूरी तरह से एक घरेलू बैंक होने पर गर्व है, जो डेटा स्थानीयकरण पर RBI के सभी दिशानिर्देशों का पूरी तरह से पालन करता है। बैंक का सारा डेटा भारत के भीतर ही रहता है।”

बता दें Paytm Payments Bank की शुरुआत साल 2015 में लाइसेंस प्राप्त करने के 2 साल बाद 2017 में की गई थी, जिसका मक़सद था कि पारंपरिक बैंकिंग क्षेत्र से जुड़े मौजूदा बैंक अकाउंट्स के बजाए Paytm ग्राहकों के लिए डिजिटल भुगतान को और सरल बनाया जाए।

बता दें दिसंबर 2021 में ही कंपनी को अनुसूचित भुगतान बैंक के रूप में कार्य करने के लिए RBI से मंजूरी मिली थी।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) असल में Paytm और इसके संस्थापक विजय शेखर शर्मा, दोनों का एक संयुक्त उद्यम है।

paytm-ipo-key-points-founder-vijay-shekhar-sharma
Vijay Shekhar Sharma (Founder & CEO, Paytm)

दिलचस्प ये है कि एक्सचेंज फाइलिंग के मुताबिक़, चीन का लोकप्रिय Alibaba Group और उसकी अन्य सहयोगी कंपनियाँ, Jack Ma का Ant Group आदि Paytm में हिस्सेदारी रखते हैं।

इस बीच भले Paytm ने तमाम बातों और आरोपों का खंडन किया हो, लेकिन इसका असर कंपनी की शेयर क़ीमतों पर पड़ता नज़र आने लगा है।

कंपनी के शेयर सोमवार को 12% से अधिक गिरकर ₹680 के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गए। ये कंपनी फ़िलहाल ₹43,798 करोड़ (लगभग $5.7 बिलियन) के मार्केट कैप के साथ नज़र आती है, जो ज़ाहिर तौर पर कंपनी द्वारा IPO पेश किए जाने के दौरान $19.9 बिलियन के मार्केट कैप से लगभग चार गुना कम है।