whatsapp-new-feature-search-message-by-date
Credits: Wikimedia Commons

Ads on WhatsApp?: इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता कि WhatsApp दुनिया भर में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले मोबाइल ऐप्स में से एक है। और शुरू से ही एक आम यूज़र के दिमगा में ये सवाल रहा है कि भला WhatsApp की कमाई का ज़रिया क्या है?

असल में इसका जवाब बीते कुछ समय से अटकलों के रूप में सामने आता रहा है, और वो है ऐप पर जल्द पेश हो सकने वाले विज्ञापन। जी हाँ! Meta (जिसको पहले Facebook के नाम से जाना जाता था) के मालिकाना हक वाले WhatsApp को भी Facebook की तरह ही विज्ञापनों के ज़रिए कमाई का विकल्प देने की अटकलें लगाई जाती रहीं हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

पर अब नए संकेतो से ऐसा लगता है कि इसकी शुरुआत हो चुकी है। असल में WhatsApp पर एक नया अनोखा स्टेटस अपडेट सुबह ही भारतीय उपयोगकर्ताओं द्वारा देखा गया है, जो मैसेजिंग ऐप पर विज्ञापनों की संभावना की ओर इशारा करता है।

आप शायद सोच रहें होंगें कि भला इस नए स्टेटस अपडेट में भला क्या ख़ास है? असल में इस अपडेट को देखने पर ऐसा लगता है कि अपडेट WhatsApp के अपने आधिकारिक अकाउंट से किया गया है, जिसको कभी भी कांटैक्ट के तौर पर सेव नहीं किया गया होता है।

दिलचस्प रूप से इसमें अपडेट करने वाली पार्टी की कोई कोई जानकारी नहीं है और न ही आप उस उपयोगकर्ता ने नाम (जो ख़ुद WhatsApp के नाम पर है) पर क्लिक करके यह पता लगा सकते हैं कि इसे किसने भेजा है।

यह अन्य Status Updates के साथ ही दिखाई देता है, ठीक वैसे ही जैसे आपके कांटैक्ट में सेव लोगों के Status दिखाई देखते हैं। आप यहां देख सकते हैं कि यह कैसा दिखता है:

Ads on WhatsApp
Ads on WhatsApp
Ads on WhatsApp?

ऊपर जैसा आप देख पा रहें हैं, इस स्टेटस अपडेट में कंपनी भारत में अपने UPI आधारित भुगतान सुविधा का प्रचार करते नज़र आ रही है।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि इसके नीचे कि ओर एक ‘Tap to get started’  नामक कॉल-टू-एक्शन बटन भी शामिल है, जो यह साफ़ संकेत देता है कि कोई भी बिज़नेस अपने प्रचार के साथ ही आपको अपनी वेबसाइट या संबंधित लैंडिंग पेज को Status में ही लिंक कर सकता है।

हम सब जानते हैं कि सामान्यतः WhatsApp पर वही स्टेटस अपडेट नज़र आते हैं, जिन यूज़र्स को हम अपने कांटैक्ट में सेव रखते हैं। इतना ही नहीं बल्कि प्राइवेसी सेटिंग पर जाकर हम कई यूज़र्स के स्टेटस को Hide तक कर सकते हैं।

वैसे देखने से तो लगता है कि कंपनी शायद इस विज्ञापन फ़ीचर की टेस्टिंग कर रही है और संभावित रूप से Status आधारित विज्ञापनों के बीटा/पायलट टेस्टिंग को जल्द रोल आउट कर सकती है।

और पर अगर ये संभावित विज्ञापन WhatsApp पर रोलआउट किया जाता है, तो इसके बाद से हर कुछ Status Updates को दिखाए जाने के बाद बीच बीच में कुछ विज्ञापनों को भी स्टेटस अपडेट की तर्ज़ पर दिखाया जा सकता है।

कोई शक नहीं है कि WhatsApp की लोकप्रियता तो देखते हुए कंपनी के लिए ये राजस्व कमाने का एक व्यापाक विकल्प साबित होगा। ग़ौर करने वाली बात ये भी है कि इन विज्ञापनों का दख़ल चैट बॉक्स में नहीं करने का इरादा है, जिससे कम से कम उपयोगकर्ता अनुभव को प्रभावित किया जाए।