livspace-turns-unicorn-with-180-million-funding

Livspace turns unicorn: साल 2021 जहाँ क़रीब 43 के आँकड़े के साथ रिकॉर्ड भारतीय यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स का गवाह साबित रहा था, वहीं नए साल 2022 की शुरुआत से ही ये अंदाज़ा लगने लगा है कि पिछले साल का रिकॉर्ड इस साल टूटता नज़र आ सकता है।

और अब इसका एक ताज़ा उदाहरण देखने को मिला है होम इंटीरियर और रेनोवेशन प्लेटफॉर्म Livsapce ने, जिसने मंगलवार को जानकारी दी कि कंपनी ने दिग्गज़ निवेश फर्म KKR के नेतृत्व में $1 बिलियन से अधिक की वैल्यूएशन वाले फंडिंग राउंड में $180 मिलियन (लगभग ₹1,400 करोड़)मरीकी डालर जुटाने के बाद यूनिकॉर्न बन गया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के इस सीरीज़ एफ फंडिंग राउंड में Ingka Group Investments, Jungle Ventures, Venturi Partners और Peugeot Investments जैसे मौजूदा निवेशकों ने भी भागीदारी दर्ज की।

बेंगलुरु आधारित Livspace के मुताबिक़ प्राप्त की गई इस नई राशि का इस्तेमाल कंपनी भारत के साथ-साथ विदेशों के ही बाज़ारों में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाने में करेगी। कंपनी मौजूदा निवेशकों द्वारा भरोसा जताए जाने से काफ़ी उत्साहित है।

साल 2014 में अनुज श्रीवास्तव (Anuj Srivastava) और रमाकांत शर्मा (Ramakant Sharma) द्वारा शुरू की गई Livspace अपने प्लेटफॉर्म पर घरों के कमरों, रसोई आदि जगहों के हिसाब से पूर्व-निर्मित (प्री-डिज़ाइन) लुक चुनने में मदद करती है।

Livspace

प्लेटफ़ॉर्म पर ग्राहक अपनी पसंद का डिजाइन चुन सकते हैं और उसको खरीद सकते है। इतना ही नहीं बल्कि कंपनी प्रॉपर्टी डेवलपर्स के साथ भी साझेदारी के तहत लोगों के लिए प्री-डिज़ाइन और रेडी-टू-इंस्टॉल जैसे विकल्पों के साथ इंटीरियर डिजाइन सेवा प्रदान करती है।

फ़िलहाल कंपनी बेंगलुरु, दिल्ली/एनसीआर, मुंबई, हैदराबाद और चेन्नई सहित भारत के 28 शहरों में मौजूद है। लेकिन कंपनी का लक्ष्य आगामी 2023 के अंत तक 65 से 70 शहरों तक अपने संचालन का विस्तार करने का है।

इसके साथ ही कंपनी संयुक्त अरब अमीरात, मध्य पूर्व के देशों में भी अपनी सेवाओं का विस्तार करने और ऑस्ट्रेलियाई बाजार में प्रवेश की योजना बना रही है।

Livspace के सह-संस्थापक और सीईओ अनुज श्रीवास्तव ने इस नए निवेश को लेकर कहा;

“हमारे निवेशकों की वैश्विक बाजारों को लेकर गहरी समझ, मजबूत ब्रांड और नए जमाने के डिजिटल ब्रांडों के साथ साझेदारी कर सकने की विशेषज्ञता, हमें आने वाले समय में अपने कारोबार को 10 गुना तक बढ़ाने में मदद करेगी।”

उन्होंने कहा कि कंपनी नई सेवाओं और उत्पादों को और अधिक बाजारों में पेश करेगी, और प्रौद्योगिकी और लोगों में और निवेश करेगी।

बता दें क़रीब दो महीने पहले ही Livspace ने सिंगापुर आधारित होम रिमॉडेलिंग और डिजाइन प्लेटफॉर्म, Qanvast में बहुमत हिस्सेदारी हासिल की थी।

अगर जनवरी 2021 के बाद से देखें तो Livspace भारत का 50वां यूनिकॉर्न स्टार्टअप बन गया है। वहीं साल 2022 में यह देश का 7वाँ यूनिकॉर्न बननें में सफ़ल रहा है। इसके पहले इस साल यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल करने वालों में ElasticRun, DealShare, Darwinbox, LEAD, Fractal और Mamaearth का नाम शुमार है।