gupshup-acquires-knowlarity

Gupshup acquires Knowlarity: भारत के स्टार्टअप ईकोसिस्टम में जहाँ एक तरफ़ निवेश संबंधी ख़बरों में इज़ाफ़ा हुआ है, वहीं दूसरी ओर बड़े स्टार्टअप्स द्वारा तुलनात्मक रूप से छोटी कंपनियों का अधिग्रहण भी बेहद आम हो चला है।

और आज इसी कड़ी में एक नया नाम जुड़ा है Knowlarity Communications का। जी हाँ! असल में कन्वर्सेशनल एंगेजमेंट सॉल्यूशंस प्रदाता Gupshup ने बुधवार को Knowlarity Communications के अधिग्रहण का ऐलान किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

वैसे साफ़ कर दें कि इस अधिग्रहण को लेकर पूँजी संबंधित कोई भी जानकारी आधिकारिक रूप से साझा नहीं की गई है।

लेकिन इसके बाद भी ये खबर इसलिए अहम हो जाती है क्योंकि Knowlarity लगभग 65 देशों में 6,000 से अधिक ग्राहकों को क्लाउड टेलीफोनी, कॉन्टैक्ट सेंटर ऑटोमेशन, AI आधारित वॉयस असिस्टेंट और स्पीच एनालिटिक्स जैसी सुविधाएँ प्रदान करती है। मौजूदा समय में कंपनी में क़रीब 400 से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं।

ये कदम ऐसे वक़्त में आया है जब पिछले ही साल तमाम अन्य भारतीय स्टार्टअप की तरह ही Gupshup ने भी यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल किया था।

और बीते सितंबर ही कंपनी ने न्यू जर्सी स्थित आधारित Dotgo का भी अधिग्रहण किया था, जिसके बाद अब Knowlarity को भी इस लिस्ट में शुमार कर लिया गया है।

Gupshup का दावा है कि मौजूदा समय में कंपनी हर महीने लगभग 6 बिलियन से अधिक मैसेजों को प्रॉसेस करती है, और 30 से अधिक मैसेजिंग चैनलों के लिए एकल मैसेजिंग एपीआई, AI आधारित वॉयस सॉल्यूशंस आदि सेवाएँ प्रदान करती है।

वहीं बात करें Knowlarity की तो इसकी शुरुआत अंबरीश गुप्ता (Ambarish Gupta) और पल्लव पांडे (Pallav Pandey) ने मिलकर साल 2009 में की थी। और जैसा हमनें ऊपर ही आँकड़ों के ज़रिए स्पष्ट किया कि ये भी कन्वर्सेशनल एंगेजमेंट सेगमेंट के बड़े नामों में से एक रहा है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार ये बाजार आगामी 2024 तक लगभग 18 बिलियन डॉलर के टोटल एड्रेसेबल मार्केट (TAM) के तौर पर समग्र रूप से संपर्क केंद्रों, IVR सिस्टम और स्मार्ट वॉयस सिस्टम तक पहुँचने को तैयार है।

Gupshup acquires Knowlarity

Knowlarity को स्पीच एनालिटिक्स के लिए Google Cloud के साथ मिलकर, दुनिया के अग्रणी सीआरएम सिस्टम जैसे Salesforce, Freshworks, Hubspot, Zoho और अन्य के साथ एकीकरण के लिए भी जाना जाता है।

gupshup-acquires-knowlarity

कंपनी ने पिछले साल की तुलना में राजस्व में 50% की वृद्धि दर्ज की है। आज कंपनी की सेवाएँ बीएफएसआई, उपभोक्ता सामान, आईटी/आईटीईएस, और हेल्थकेयर जैसे विभिन्न क्षेत्रों में इस्तेमाल की जा रही हैं।

इसके क्लाउड समाधानों में क्लिक टू कॉल, नंबर मास्किंग, मल्टी-लेवल आईवीआर सिस्टम, WhastApp Business API, टोल-फ्री नंबर, एम्बेड करने योग्य वीडियो प्लेटफॉर्म, स्पीच एनालिटिक्स और वॉयस-बॉट/ चैटबॉट जैसे AI आधारित सेवाएँ शमिल हैं।

ये अधिग्रहण इसलिए भी ज़्यादा हैरान करने वाला नहीं है क्योंकि Gupshup को सीधे तौर पर अपनी सेवाओं को और व्यापाक तथा बेहतर बनाने में Knowlarity पूरी तरह से योगदान देने में सक्षम है। और बढ़ते प्रतिस्पर्धी बाज़ार में इसके ज़रिए Gupshup अपनी स्थिति को मज़बूत कर सकेगा।