funding-alert-gritech-startup-mooofarm-raises-rs-18-crore

भारत में ‘एग्रीटेक’ उन कुछ चुनिंदा क्षेत्रों में से है, जिसने बीते कुछ सालों से निवेश अर्जित करने की रफ़्तार में टेज वृद्धि देखी है। और अब इसी कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है, जो है – MoooFarm

जी हाँ! एग्रीटेक स्टार्टअप MoooFarm ने अब अपने सीड फंडिंग राउंड के तहत $2.4 मिलियन (लगभग ₹18 करोड़) का निवेश हासिल हासिल किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कंपनी के लिए इस निवेश डूर के नेतृत्व दिग्गज़ निवेशक Accel India ने किया, जिसमें Rockstart के AgriFood Fund और Navus Ventures ने भी भागीदारी दर्ज करवाई।

MoooFarm नामक ये स्टार्टअप मुख्यतः डेयरी (पशुपालन से संबंधित) किसानों के लिए तकनीकी समाधानों की पेशकश करता है। कंपनी के अनुसार इस प्राप्त किए गए पैसों का इस्तेमाल तकनीकी जगत से जुड़ी कुछ शीर्ष प्रतिभाओं को साथ जोड़ने, राजस्व में वृद्धि कर सकने और संचालन का भौगोलिक विस्तार करने के लिए किया जाएगा।

आपको बता दें MoooFarm की शुरुआत साल 2019 में परम सिंह (Param Singh), आशना सिंह (Aashna Singh), अभिजीत मित्तल (Abhijeet Mittal) और जितेश अरोड़ा (Jitesh Arora) द्वारा की गही थी।

MoooFarm
Image Credit: MoooFarm

ये स्टार्टअप असल में देश के डेयरी क्षेत्र को मौजूदा बड़े लेकिन अस्पष्ट/असंगठित बाज़ार के अवसरों से जोड़ने के प्रयास कर रहा है, जो भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का लगभग 4.6% हिस्सेदार रहा है।

कंपनी अपने MoooFarm मोबाइल ऐप और गांव-स्तर पर छोटे-मध्यम उद्यमियों के नेटवर्क के ज़रिए छोटे डेयरी किसानों को अधिक लाभ दे सकने वाले मवेशियों, योग्य पशु चिकित्सकों, बीमा/वित्तीय सेवाओं, डिजिटल एडवाइज़री जैसी सेवाओं तक पहुँच प्रदान करते हुए, उन्हें सशक्त बनाने का काम करता है।

कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ, परम सिंह ने कहा;

“पिछली दो तिमाहियों में हमने महीने-दर-महीने के नज़रिए से राजस्व में 50% की वृद्धि दर्ज की है। वित्त वर्ष 2022 के लिए हम अनुमानित राजस्व ₹30 करोड़ तक लेकर चल रहें हैं, जो वित्त वर्ष 2021 के मुक़ाबले 10 गुना वृद्धि होगी।”

वहीं Accel India के वरिष्ठ पार्टनर, प्रशांत प्रकाश (Prashanth Prakash) ने कहा,

“MoooFarm की टीम भारत में $50 बिलियन से अधिक के प्री-फार्म गेट डेयरी सेक्टर को व्यवस्थित व बेहतर बनाने के नरजिए से एक मजबूत परिचालन और तकनीकी विशेषज्ञता संबंधी क्षमता रखती है।”

अब तक MoooFarm ऐप को पूरे भारत में 10 से अधिक राज्यों में 10 लाख से अधिक डेयरी किसानों द्वारा डाउनलोड किया गया है।