employees-sue-twitter-after-elon-musk-begins-layoffs
Credits: Wikimedia Commons

Elon Musk & Indian Ministers: भारत में एलोन मस्क (Elon Musk) के नेतृत्व वाली लोकप्रिय इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला (Tesla) के आगाज को लेकर तमाम तरह की ख़बरें सामने आ रही है। ये तो साफ़ है कि कंपनी भारत में जल्द से जल्द शुरुआत करने के लिए केंद्र सरकार के साथ बातचीत के दौर में है, लेकिन बात कुछ बनती नज़र नहीं आ रही है।

पर इसी बीच अब देश के कई राज्यों के मंत्रियों ने एलोन मस्क (Elon Musk) को अपने-अपने राज्यों में टेस्ला कार फैक्ट्री लगाने का आमंत्रण भेजा है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन अचानक क्यों? असल में एलोन मस्क के हाल ही में एक ट्वीट में कहा था कि भारत सरकार के साथ बातचीत में आ रही चुनौतियां, देश में Tesla इलेक्ट्रिक कार के लॉन्च में देरी की वजह बन रही है।

Indian Ministers invite Elon Musk to set up Tesla Factory in their States

फिर क्या था, ये ट्वीट जैसे-जैसे ख़बर का रूप लेता गया, उसी रफ़्तार में अब भारतीय राज्यों के मंत्रियों ने भी अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी हैं।

Tesla को अपने राज्य में फ़ैक्टरी लगाने का निमंत्रण देने वालों में तेलंगाना, पंजाब, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों के दिग्गज़ मंत्री शमिल हैं।

govt-asks-elon-musks-tesla-not-to-sell-china-made-cars-in-india

इसकी शुरुआत की तेलंगाना के कैबिनेट मंत्री के.टी. रामा राव (जिन्हें KTR के नाम से भी जाना जाता है) ने जिन्होंने एलोन मस्क के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा;

“नमस्कार! एलोन, मैं भारत के तेलंगाना राज्य का उद्योग और वाणिज्य मंत्री हूं। भारत/तेलंगाना में शॉप खोलने के लिए हमें (राज्य को) Tesla के साथ साझेदारी कर चुनौतियों को कम करने की दिशा में काम करके ख़ुशी होगी।”

 

इसके बाद पश्चिम बंगाल में अल्पसंख्यक मामलों और मदरसा शिक्षा विभाग के कैबिनेट मंत्री, मोहम्मद गुलाम रब्बानी ने भी इस लिस्ट में ख़ुद को शमिल करते हुए एलोन मस्क को पश्चिम बंगाल आने का निमंत्रण भेजते हुए कहा;

“पश्चिम बंगाल में हमारे पास सबसे अच्छा बुनियादी ढांचा है और हमारी नेता ममता बनर्जी के पास दूरदर्शिता है।”

“बंगाल मतलब बिज़नेस”

इसके एक दिन बाद ही, महाराष्ट्र के जल संसाधन विभाग के कैबिनेट मंत्री, जयंत पाटिल ने मस्क के ट्वीट पर कहा;

“महाराष्ट्र भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है। हम आपको भारत में आगाज करने के लिए महाराष्ट्र में सभी तरह की मदद प्रदान करेंगे। हम आपको महाराष्ट्र में मैन्युफ़ैक्चरिंग प्लांट लगाने के लिए भी आमंत्रित करते हैं।”

और इसके बाद अब बयान आया है पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस) के अध्यक्ष और विधान सभा के सदस्य (MLA) नवजोत सिंह सिद्धू का, जिन्होंने कहा;

“मैं एलोन मस्क को आमंत्रित करता हूं, पंजाब मॉडल के तहत हम लुधियाना को इलेक्ट्रिक वाहनों और बैटरी इंडस्ट्री के हब के रूप में तैयार करेंगें। इसके ज़रिए पंजाब में नई तकनीक और हरित रोजगार पैदा करने में मदद मिलेगी और साथ ही पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास का मार्ग भी मज़बूत होगा।”

Indian Ministers invite Elon Musk, but why? Here’s the reason!

पर इतने सारे राजनेताओं का एलोन मस्क में अचानक दिलचस्पी लेना? आपको शायद अजीब लग रहा हो। लेकिन इसकी दो बड़ी वजह हैं।

पहली तो स्पष्ट है कि Tesla जैसी ग्लोबल कंपनी आगामी समय में सबसे तेज़ी से बढ़त दर्ज करने वाले इलेक्ट्रिक बाज़ार को मज़बूत बनाने के लिए राज्यों को बड़ी मात्रा में निवेश और तकनीक दोनों उपलब्ध करवा सकती है।

और दूसरी वजह है एलोन मस्क की युवाओं के बीच बढ़ती लोकप्रियता। जी हाँ! कहीं न कहीं हर कोई भारत के युवा वर्ग को भी ये दर्शाने में लगा है कि हम आज की पीढ़ी की तकनीक और उससे जुड़े इंडस्ट्री लीडर्स को उचित सम्मान देने में सक्षम हैं।

ख़ैर! अभी तक Elon Musk की ओर से इन किसी भी आमंत्रण का जवाब दो नहीं दिया गया है, लेकिन भारत के इन बड़े और प्रमुख राज्यों द्वारा आमंत्रण प्राप्त करने से वह उत्साहित ज़रूर होंगें।