online-ayurveda-consultancy-startup-nirogstreet-raises-rs-30-cr
Credit: NirogStreet

Online Ayurveda consultancy startup NirogStreet: वक्त भले ही कितनी ही तेज़ी से क्यों ना बदल रहा हो लेकिन आज भी बहुत से लोगों का विश्वास आयुर्वेद (Ayurveda) में है और ये क्षेत्र भी अब इस बदलते दौर के साथ आधुनिकता को अपनाता नज़र आ रहा है।

इसका ताज़ा उदाहरण भी अब सामने आया है, जब आयुर्वेद डॉक्टर कंसल्टेंसी के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म प्रदान करने वाले स्टार्टअप NirogStreet ने अपने सीरीज़ बी दौर में क़रीब ₹30 करोड़ का निवेश हासिल करने का ऐलान किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

असल में NirogStreet ने ये निवेश यूएई आधारित CE Ventures और जापान के ICMG Partners से प्राप्त किया है।

इस निवेश दौर में शामिल अन्य निवेशकों की बात करें तो इस लिस्ट में Coinbase और Pinterest बोर्ड सदस्य, गोकुल राजाराम; Wavemaker Partners के समीर कुमार; Livspace के संस्थापक, अनुज श्रीवास्तव; Sumitomo के प्रबंधन कार्यकारी अधिकारी, राजीव कन्नन; Sysdig USA के सीईओ, सुरेश वासुदेवन; Livspace के सह-संस्थापक, रमाकांत शर्मा; Morgan Stanley के पूर्व सीईओ, आशुतोष सिन्हा आदि दिग्गज़ नाम शुमार रहे।

इसके साथ ही कंपनी ने एक अहम क़दम का ऐलान करते हुए बताया कि इसने भारत और विदेशों में अपने संचालन को व्यापाक बनाने के लिए रॉबिन झा (Robin Jha) को सह-संस्थापक नियुक्त किया है।

कंपनी के मुताबिक़ वह इस प्राप्त पूँजी का इस्तेमाल अपने सर्विस और प्रोडक्ट संबंधित पेशकश को विस्तारित करने और अपने संचालन को मज़बूत करने के लिए करेगी।

nirogstreet

जून 2016 में राम एन कुमार (Ram N Kumar) द्वारा शुरू किया गया NirogStreet इस नए फ़ंड के ज़रिए अपनी उपस्थिति का भी विस्तार करने और अधिक से अधिक आयुर्वेद डॉक्टरों को अपने साथ जोड़ने के लिए करेगा।

इस नए निवेश को लेकर NirogStreet के संस्थापक और सीईओ, राम एन कुमार ने कहा;

“हम दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती हेल्थकेयर कंपनी बनने के लिए खुद को तैयार कर रहे हैं। ऐसे दूरदर्शी निवेशकों के साथ, हम आयुर्वेद डॉक्टरों और अन्य पारंपरिक चिकित्सकों को मुख्यधारा की हेल्थकेयर सुविधाओं व प्रणाली का हिस्सा बनाकर वैश्विक रूप से हेल्थकेयर सेक्टर को एक नया आयाम देने के अपने लक्ष्य की ओर तेज़ी से बढ़ रहें हैं।”

बता दें फ़िलहल कंपनी अपने पीयर-टू-पीयर लर्निंग, इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड और बी2बी ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर 50,000 से अधिक डॉक्टरों को अपनी सेवाएं देने का दावा करती है।

कंपनी अपने इन तमाम प्लेटफ़ॉर्म व सुविधाओं के ज़रिए आयुर्वेदिक डॉक्टरों को टेली-आयुर्वेद (Tele-Ayurveda) के माध्यम से दुनिया भर के रोगियों के साथ कंसल्टेंसी आदि को लेकर सक्षम बनाती है।