funding-news-saas-based-sme-tech-startup-tranzact
Credit: TranZact

TranZact Funding News: छोटे व्यवसायों (SMEs) के लिए सॉफ़्टवेयर एज़ ए सर्विस (SaaS) आधारित डिजिटल ट्रांसफ़ॉर्मेशन टूल की पेशकश करने वाले टेक स्टार्टअप TranZact ने अपने सीरीज़ ए राउंड में $7 मिलियन (लगभग ₹53 करोड़) का निवेश हासिल किया है।

कंपनी के लिए इस निवेश दौर (फंडिंग राउंड) का नेतृत्व सैन फ्रांसिस्को आधारित Tribe Capital ने किया, जिसमें Prime Venture Partners, Gemba Capital और कंपनी के मौजूदा निवेश Kae Capital ने भी भागीदारी दर्ज करवाई है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

वैसे इस निवेश दौर में TranZact को कई जाने-मानें एंजेल निवेशकों का भी साथ मिला, जिसमें BharatPe के सुहैल समीर, Spotify/Tinder के पूर्व कार्यकारी श्रीराम कृष्णन, Zetwerk के सह-संस्थापकों, OfBusiness के सह-संस्थापकों, Paytm के देवेंद्र राणे, Climber Capital के गिरिधर मालपानी और Locus.sh के कृष्णा खंडेलवाल शामिल रहे।

बता दें TranZact के अनुसार प्राप्त इस नई राशि का इस्तेमाल कंपनी आने वाले 12 महीनों में 10 लाख से अधिक SMEs (छोटे व मध्यम व्यवसायों) को अपने प्लेटफ़ॉर्म के साथ जोड़ने/ऑनबोर्ड करने के मक़सद से प्रोडक्ट आधारित डेवेलप्मेंट के लिए करेगी।

इसके साथ ही हासिल की गई इस पूंजी का ये स्टार्टअप प्रोडक्ट इनोवेशन के लिए भी करेगा, जो यूज़र्स के लिए इस्तेमाल की प्रक्रिया को और सरल बनाए, नई उभरती हुई तकनीकों का लाभ उठाए और SMEs को बेहतर ढंग से विकास कर सकनें में मादद करने के लिए व्यापक और सटीक रूप से डेटा का इस्तेमाल करे।

वैसे मुंबई आधारित TranZact नई प्रतिभाओं को कंपनी के साथ जोड़ने और अपनी मौजूदा टीम के विस्तार को लेकर भी निवेश करने की योजना बना रहा है।

Startup Funding News (Hindi): TranZact

साल 2016-17 में रितेश कुमार (Ritesh Kumar), शरद सेन शर्मा (Sharad Sen Sharma) और रोहन सेन शर्मा (Rohan Sen Sharma) द्वारा शुरू किया गया TranZact भारतीय SMEs को अपने संचालन को स्वचालित और डिजिटाइज़ करने की सहूलियत प्रदान करता है।

TranZact

यह स्टार्टअप SMEs के लिए खरीद, इन्वेंट्री, बिक्री और क्वोटेशन मैनेजमेंट को सुव्यवस्थित करके संचालन के लिए डेटा आधारित निर्णय ले सकने की भी सुविधा देता है।

इस निवेश को लेकर TranZact के सह-संस्थापक रितेश कुमार ने कहा,

“भारत सरकार ‘वोकल फॉर लोकल’ पर काफ़ी जोर दे रही है, और छोटे व मध्यम व्यवसाय भी आजकल बेहतर ग्राहक अनुभव और अधिक मजबूत विकास के लिए अपने संचालन को आधुनिक व डिजिटल बनाने की संभावनाएँ तलाश रहें हैं।”

“और इसलिए हमारा मक़सद SaaS आधारित एक ऐसे बेहतरीन प्लेटफ़ॉर्म का निर्माण करने का है, जिससे एक ऐसा बाज़ार बनाया जा सके जहां SMEs नए ग्राहकों, आपूर्तिकर्ताओं, वित्त भागीदारों, रसद भागीदारों की खोज कर सकें और अन्य सेवाएं भी सरलता व किफ़ायती मूल्यों में प्राप्त कर सकें।”

अपनी शुरुआत के बाद से अब तक TranZact के दावे के मुताबिक़ ये देश भर में औद्योगिक, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स, रसायन और पैकेजिंग क्षेत्रों से क़रीब 20,000 से अधिक SMEs को अपने प्लेटफ़ॉर्म के साथ जोड़ चुका है।

इस बीच Prime Venture Partners के मैनेजिंग पार्टनर, श्रीपति आचार्य (Shripati Acharya) ने कहा;

“हम TranZact द्वारा की गई अब तक की वृद्धि से उत्साहित हैं और भारत में SMEs को डिजिटल सुविधाओं से लैस करने के बढ़ते अवसर को लेकर आशावादी भी हैं। डिजिटल SMEs बेशक भारत के $5 ट्रिलियन जीडीपी लक्ष्य को हासिल करने एमिन अहम किरदार निभाएँगें, जिसमें TranZact का योगदान भी अमूल्य साबित होगा।”