apple-airtag-detector-app-for-android

Apple AirTag App for Android: टेक दिग्गज़ कंपनी Apple अब अपने ईकोसिस्टम के बाहर भी अपनी छाप छोड़ने को बेताब नज़र आ रही है। जी हाँ! अपने Apple iOS, macOS आदि ईकोसिस्टम के परे अब कंपनी ने Android यूज़र्स को भी साधने की कोशिशें शुरू कर दी हैं।

हम ऐसा इसलिए कह रहें हैं क्योंकि Apple ने अब अपने एक प्रोडक्ट से जुड़ा एक Android ऐप लॉन्च किया है। हम बात कर रहें हैं Apple AirTag की, जो असल में एक ट्रैकर है, और अब Apple ने Android यूज़र के लिए भी AirTag डिटेक्टर ऐप पेश किया है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

ख़ुद का App Store संचालित करने वाली Apple ने Google Play Store पर Tracker Detect नाम से इस ऐप को पेश किया है।

Apple Inc. का कहना है कि ये नया एंड्रॉइड ऐप यूज़र्स को उनके आसपास मौजूद ऐसे AirTags व अन्य ट्रैकिंग डिवाइसों का पता लगाने में मदद करेगा, जो यूज़र्स की जानकारी के बिना उसके आसपास हैं। ज़ाहिर है इससे यूज़र्स को अपनी प्राइवेसी को लेकर अधिक कंट्रोल मिल सकेगा।

Apple launches AirTag detector app for Android

आसान शब्दों में Apple का Tracker Detect नामक ये एंड्रॉइड ऐप Find My Network से लैस सेंसर की पहचान करने में मदद करना है जो आपके आस-पास मौजूद हो सकते हैं।

ऐप के अनुसार अगर आपको लगता है कि कोई आपके लोकेशन को ट्रैक करने के लिए AirTags या किसी अन्य डिवाइस का इस्तेमाल कर रहा है तो आप ऐसी किसी डिवाइस को ऐप पर स्कैन कर सकते हैं।

बता दें Apple AirTags इस साल की शुरुआत में लॉन्च किए गए छोटे ट्रैकिंग डिवाइस हैं। ट्रैकर को चाबियों और पर्स जैसी चीज़ों के साथ जोड़ा जा सकता है, ताकि अगर वो कहीं खो जाती हैं तो उनका पता लगाया जा सके।

लेकिन ज़ाहिर है AirTags या ऐसी अन्य डिवाइसों का गलत तरीक़े से भी इस्तेमाल किए जाने की संभावना बनी रहती है, जैसी किसी इंसान की जानकारी के बिना उसके साथ इसको जोड़कर उसकी लोकेशन को ट्रैक करना आदि। इसलिए ये नया Tracker Detect ऐप अब Android यूज़र्स की प्राइवेसी की सुरक्षा में एक नई और बेहतर परत का काम करेगा।

इसको लेकर Apple की ओर से आधिकारिक बयान में कहा गया;

“AirTag ट्रैकिंग इंडस्ट्री में बेहतरीन प्राइवेसी व सुरक्षा संबंधित सहूलियतें प्रदान करता है और अब हम Android डिवाइसों के लिए भी कुछ नई क्षमताओं का विस्तार कर रहे हैं। Tracker Detect Android यूज़र्स को AirTags या ऐसे अन्य ट्रैकिंग डिवाइसों को स्कैन करने की सुविधा देता है। ऐसा करके हमारा मक़सद यूज़र्स की प्राइवेसी को लेकर बेहतरीन सेवाएँ प्रदान करने का है।”

How to use Apple Tracker Detect App on Android?

पर आप शायद सोच रहें होंगें की भला ये Apple का Tracker Detect ऐप काम कैसे करता है? बता दें अगर इस ऐप स्कैन करने के दौरान को अनजान AirTag मिलता है जो उसके वास्तविक मालिक से दूर है, तो यह ट्रैकर उसकी पहचान करके 10 मिनट के भीतर एक साउंड बजा देगा।

apple-tracker-detect-app-for-android

वैसे कंपनी के अनुसार, अपने मालिक से अलग हुए अनजान ट्रैकर को ऐप में दिखाई देने में 15 मिनट तक का समय लग सकता है। एक बार पहचान करने के बाद ऐप उस ट्रैकर को एक “Unknown AirTag” के रूप में चिह्नित कर देगी।

Apple ने Android यूजर्स को ऐप के अंदर ही AirTag की बैटरी हटाने के भी निर्देश दिए हैं। साथ ही यूज़र्स को कानून प्रवर्तन से संपर्क करने की वॉर्निंग (चेतावनी) दी जाएगी, अगर किसी व्यक्ति को लगता है कि अज्ञात ट्रैकर की वजह से उनकी सुरक्षा को ख़तरा हो सकता है।

याद दिला दें Apple ने इस साल जून में अपने AirTags को नए सॉफ़्टवेयर के साथ अपडेट किया था ताकि वह समय अवधि बढ़ाई जा सके, जब AirTag अपने मालिक से अलग होने पर साउंड उत्पन्न करने लगता है।

लॉन्च के समय यह समयावधि तीन दिनों की थी, लेकिन बाद में इसको 8 से 24 घंटों के बीच एक रैंडम समय सीमा तक के लिए बढ़ा दिया गया था। असल में ये टाइम विंडो किसी को ट्रैक करने के लिए इस्तेमाल हो रहे AirTag के खिलाफ एक निवारक के रूप में काम करती है।