create-your-own-stickers-on-whatsapp-without-third-party-app
Credits: Wikimedia Commons

Make WhatsApp Custom Stickers: इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp पूरी दुनिया में ही बेहद लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप्स में शुमार है और इसके इतना लोकप्रिय होने की वजह है कि यूज़र्स इसमें आसानी से Text, Voice, Video, Image, GIF या फिर Stickers तक भेज सकते हैं।

पर हम सब देखते हैं कि कई यूज़र्स मैसेज में अपने खुद के बनाए स्टिकर या जिन्हें हम ‘कस्टम स्टिकर्स’ कहतें हैं, उनका इस्तेमाल करना अधिक पसंद करते हैं और इसके लिए वो कुछ ख़ास थर्ड पार्टी ऐप्स तक का इस्तेमाल करते हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन यूज़र्स के बीच लोकप्रिय होते कस्टम स्टिकर्स के ट्रेंड को देखते हुए अब WhatsApp ने खुद के प्लेटफ़ॉर्म में ही अपना स्टिकर बनाने की सुविधा पेश कर दी है।

इसके लिए WhatsApp Web की एक नई अपडेट के तहत एक बिल्ट-इन कस्टम स्टिकर मेकर (Sticker Maker) टूल पेश किया गया है, जो आपको अपने कंप्यूटर से सामान्य तस्वीरों को स्टिकर में बदलने की सुविधा देता है, जिसे मैसेजिंग प्लेटफ़ॉर्म के ज़रिए भेजा जा सकता है।

How to make WhatsApp Custom Stickers?

आप चाहें तो अपने कस्टम स्टिकर में एक इमेज को आउटलाइन या क्रॉप भी कर सकते हैं। इतना ही नहीं बल्कि इसमें मौजूदा Emojis या फिर Text को भी जोड़ा जा सकता है।

  • इस नए टूल को एक्सेस करने के लिए, आपको सबसे पहले पेपरक्लिप (या अटैचमेंट) आइकन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको स्टिकर का विकल्प चुनने के बाद फिर अपलोड करने के लिए एक इमेज का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने इस तस्वीर का स्टिकर वर्जन खुल जाएगा, जिसको आप अपने अनुसार एडिट भी कर सकते हैं।

whatsapp-web-native-sticker-maker-desktop

ज़ाहिर है कि WhatsApp पर अपने खुद के स्टिकर बनाना कोई नई बात नहीं है, iOS और Android पर ये टास्क को सपोर्ट करने वाली कई थर्ड-पार्टी ऐप मौजूद हैं।

बता दें WhatsApp के Web वर्जन के साथ ही साथ यह फीचर अगले हफ्ते उसके डेस्कटॉप ऐप में भी रोलआउट या कहें तो पेश कर दिया जाएगा। इसके बाद यूजर्स वेब और डेस्कटॉप दोनों पर ही अपने खुद के बनाए कस्टम स्टिकर भेज सकेंगें।

WhatsApp Safety Features:

इसके साथ ही WhatsApp ने भारत में दो नए सेफ्टी फीचर्स भी पेश किए हैं, जो हैं – ‘फ्लैश कॉल्स’ (Flash Calls) और ‘मैसेज लेवल रिपोर्टिंग’ (Message level Reporting)

फ्लैश कॉल (Flash Call) के ज़रिए आपका फोन नंबर ऑटोमैटिकली वेरिफाई हो जाएगा। मतलब ये कि यूजर्स को अपना अकाउंट वेरिफाई करने के लिए 6 डिजिट ओटीपी की जरूरत नहीं पड़ेगी।