startup-funding-news-salarybox-from-y-combinator

Startup Funding News – SalaryBox: गुरुग्राम आधारित फिनटेक स्टार्टअप SalaryBox ने अपने ने सीड फ़ंडिंग राउंड के तहत $4 मिलियन (लगभग ₹₹29 करोड़) का निवेश प्राप्त किया है। इस नए फ़ंडिंग राउंड में कंपनी के मौजूदा निवेशकों के साथ कुछ नए नाम भी शामिल होते नज़र आए।

संस्थागत निवेशकों की बात करें तो इस दौर में Y-Combinator, AME Cloud Ventures, Soma Capital और 2AM Ventures ने अपनी भागीदारी दर्ज करवाई।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

वहीं शामिल हुए अन्य प्रमुख निवेशकों में Doordash कार्यकारी, गोकुल राजाराम; पूर्व Tinder व Spotify कार्यकारी, श्रीराम कृष्णन और पूर्व Facebook कार्यकारी, आनंद चंद्रशेखरन का भी नाम शुमार रहा।

आगे बढ़ने से पहले आपको SalaryBox क्या है? और ये कौन-कौन सी सेवाएँ प्रदान करता है? इसकी जानकारी देते हैं।

असल में SalaryBox एक मोबाइल ऐप-आधारित कर्मचारी प्रबंधन (Employee Management) समाधान है, जो अपने नाम के अनुसार, छोटे व्यवसायों के लिए कर्मचारियों की अटेंडन्स और पेरोल जैसी चीज़ों को आसान बनाने का काम करता है।

SalaryBox
Credit: SalaryBox
Startup Funding News – SalaryBox:

SalaryBox की शुरुआत, मई 2020 में आईआईटी रुड़की के पूर्व छात्र रहे, निखिल गोयल और पीयूष गोयल द्वारा की गई थी। और अपनी शुरुआत के बाद से फ़िलहाल अब तक कंपनी अपने ऐप पर 10 लाख से अधिक कर्मचारियों के पेरोल मैनेजमेंट करने का दावा करती है।

इस स्टार्टअप का मक़सद अगले साल यानी 2022 के अंत तक अपने उपयोगकर्ता आधार को 1 करोड़ से अधिक कर्मचारियों तक बढ़ाने का है।

वैसे प्राप्त की गई इस नई पूँजी को SalaryBox अपनी टीम का विस्तार करने, नए प्रोडक्ट और सुविधाओं का निर्माण करने, और अपने उपयोगकर्ता आधार को बढ़ाने में करने का इरादा रखता है।

इस सीड फ़ंडिंग राउंड के पहले मई 2021 में SalaryBox ने अपने प्री-सीड राउंड के तहत धन प्राप्त किया था, जिसमें GSF Accelerator समेत कुछ नामी व्यक्तिगत निवेशकों ने भी भागीदारी की थी।

इस नए निवेश दौर को लेकर SalaryBox के सह-संस्थापक और सीईओ निखिल गोयल ने कहा,

“हम भारत के 30 करोड़ से अधिक ब्लू-कॉलर कर्मचारियों के लिए वित्तीय समावेशन (Financial Inclusion) को सक्षम बनाने के अपने मक़सद को लेकर ग्राहकों और निवेशकों दोनों से ही एक मज़बूत प्रतिक्रिया हासिल कर रहें हैं।”

“SalaryBox इन कर्मचारियों को उनका पहला सैलरी अकाउंट खोलने में मदद करेगा और साथ ही साथ छोटे व्यवसायों के लिए अपने कर्मचारियों को सही और समय पर भुगतान करने की प्रक्रिया को भी बेहद सरल बनाने का काम कर रहा है।”

इस बात में कोई शक नहीं है कि तेज़ी से बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था के इस दौर में छोटे व्यवसायों आदि को भी क़दम से क़दम मिला कर चलने की ज़रूरत है, लेकिन उनके लिए बाज़ार में इन सुविधाओं से लैस पारंपरिक विकल्पों तक पहुँच पाना कठिन होता है।

ऐसे में SalaryBox एक आसान विकल्प के साथ छोटे व्यवसायों और इनके साथ जुड़े कर्मचारियों, दोनों के लिए ही वित्तीय समाधानों के नए रास्ते खोलता नज़र आता है, और अब इसने निवेशकों का भी निरंतर साथ मिल रहा है।