only-25-percent-tcs-employees-will-have-to-come-to-office-by-2025

TCS 25/25 Model (2025): बीते साल से महामारी के चलते शुरू हुई वर्क फ़्रोम होम (Work From Home) व्यवस्था धीरे-धीरे स्थाई स्वरूप लेती नज़र आने लगी हैं। और कई दिग्गज़ भारतीय व अन्य वैश्विक कंपनियों ने इसकी शुरुआत करने का संकेत भी दे दिया है और इसी कड़ी में एक नाम जुड़ा है आईटी दिग्गज़ टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (Tata Consultancy Services) यानि TCS का भी।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

जी हाँ! टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने 15 नवंबर से अपने कर्मचारियों को संबंधित ऑफ़िसों में लौटने के निर्देश दे दिए थे। लेकिन इसके पीछे की बड़ी वजह थी कंपनी द्वारा ’25/25′ मॉडल की तैयारी। बता दें इस TCS 25/25 मॉडल के साल 2025 तक लागू होने की उम्मीद की जा रही है।

What is TCS 25/25 Model (2025)?

लेकिन एक बड़ा सवाल उठता है कि TCS का ये 25/25 मॉडल आख़िर है क्या? असल में इस नए मॉडल के तहत 2025 तक TCS के ऑफ़िसों में एक समय में सिर्फ़ 25% कर्मचारियों को ही आने की ज़रूरत होगी।

इतना ही नहीं बल्कि ऑफ़िस आने वाले इन 25% कर्मचारियों को ऑफ़िस में 25% से अधिक समय नहीं बिताना होगा। इस बात की जानकारी ख़ुद कंपनी के प्रवक्ता द्वारा दी गई है। ऐसे देखा जाए तो 2025 के बाद से TCS के क़रीब 75% कर्मचारी वर्क फ़्रोम होम अपनाते नज़र आएँगें।

TCS की मानें तो फ़िलहाल इसके लगभग 5% कर्मचारी ही ऑफिस में आकर काम कर रहें हैं। और कंपनी के अनुसार वह साल 2021 के अंत तक अपने सभी ऑफ़िसों में कर्मचारियों को आने के लिए प्रोत्साहित कर रही है, लेकिन धीरे-धीरे कंपनी अपने 25/25 मॉडल में स्विच करती नज़र आएगी।

only-25-percent-tcs-employees-will-have-to-come-to-office-by-2025

कंपनी के प्रवक्ता के अनुसार ये तमाम बदलाव चरणबद्ध और लचीले तरीके से लाए जाएँगें। कंपनी के अनुसार उसके ये 25/25 मॉडल एक अहम कदम तो है, लेकिन इसको परिपक्व होने में अभी कुछ साल ज़रूर लगेंगे।

आईटी दिग्गज़ कंपनी की मानें तो महामारी के चलते अपनाया गया काम करने का ‘हाइब्रिड मॉडल’ अब स्थाई रूप से जगह बना रहा है और इसको एक नए ‘फ्यूचर ऑफ वर्क’ कल्चर के रूप में देखा जाना चाहिए। इसमें फिजिकल ऑफिस के साथ ही साथ रिमोट वर्किंग की सहूलियत भी अहम भूमिका निभाएगी।

वैसे TCS ने ये भी बताया कि इसने अपने तमाम कर्मचारियों और उनके आश्रितों के लिए देश का एक सबसे बड़ा कॉरपोरेट टीकाकरण अभियान भी शुरू किया है।

कंपनी के मुताबिक़ फ़िलहाल भारत में इसके 70% से अधिक कर्मचारियों का पूरी तरह से टीकाकरण हो चुका है और क़रीब 95%से अधिक को कोविड वैक्सीन की कम से कम एक खुराक लगाई जा चुकी है।

कंपनी ने इस बात को भी प्रमुखता से बताया कि महामारी के दौरान वह अपनी टीमों के साथ संपर्क में रही और अपनी सभी प्राथमिकताओं को पूरा करती रही है।