facebook-plans-to-change-its-name-the-verge

Facebook Name Change: दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया दिग्गज़ कंपनी, फेसबुक (Facebook) अब रिब्रांडिंग की ओर रूख करते हुए अपना नाम बदल सकती है। जी हाँ! एक रिपोर्ट में ऐसी ख़बरें सामने आई हैं।

असल में The Verge की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, Instagram, WhatsApp और Facebook ऐप्स आदि पर मालिकाना हक रखने वाली कंपनी Facebook Inc जल्द अपना नाम बदल सकती है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

सामने ये आया है कि फेसबुक (Facebook) के संस्थापक और सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) 28 अक्टूबर, 2021 को होने जा रहें Facebook Connect Conference में कंपनी का नाम बदलने के प्लान पर भी चर्चा कर सकते हैं।

Facebook plans to change its name

दिलचस्प रूप में रिपोर्ट ये कहती है कि फेसबुक (Facebook) जल्द ही अपनी रिब्रांडिंग से जुड़ी योजना का सार्वजनिक रूप से ऐलान कर सकता है।

वैसे माना ये जा रहा है कि कंपनी की मूल Facebook ऐप सहित अन्य ऐप्स जैसे Instagram या WhatsApp आदि का नाम नहीं बदलेगा। इसके बजाए कंपनी इन सब पर मालिकाना हक रखने वाली पैरेंट कंपनी का नाम Facebook Inc. से बदल कर कुछ और करने पर विचार कर रही है।

वैसे पहले से भी कुछ टेक दिग्गज़ कंपनियाँ ऐसा ही कर रही हैं, उदाहरण के लिए Google, जो अपनी मूल या कहें तो पैरेंट कंपनी Alphabet Inc. के तहत अपना संचालन करती है।

facebook-bjp-india

ग़ौर करने वाली बात ये है कि Facebook बीते कुछ सालों से अपने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों के साथ ही साथ अन्य कुछ तकनीकी चीज़ों जैसे Oculus और Metaverse आदि पर काम कर रहा है और ऐसे में हो सकता है कि Facebook नाम के साथ कंपनी अपनी पहचान सिर्फ़ एक सोशल मीडिया कंपनी से अलग एक तकनीकी कंपनी के रूप में स्थापित करना चाहती हो?

2004 में Facebook की स्थापना करने वाले मार्क जुकरबर्ग पहले ही कह चुकें हैं कि कंपनी का भविष्य मुख्यतः Metaverse की अवधारणा के साथ जुड़ा हुआ है। Metaverse एक ऐसी वर्चुअल जगह होगी जहां लोग रहेंगे, काम, व्यायाम, मीटिंग आदि कर सकेंगे। और इस कदम में कंपनी का वर्चुअल रियलिटी हेडसेट Oculus अहम भूमिका निभाएगा।

क्या है Facebook Metaverse?

जुकरबर्ग की माने तो फेसबुक मेटावर्स (Facebook Metaverse) लोगों को बेहतरीन सोशल टेक्नोलॉजी का उदाहरण पेश करते हुए वर्चूअल अनुभव के तहत एक ऐसा डिजिटल स्पेस प्रदान करेगा, जहाँ लोग अन्य लोगों के साथ उपस्थित होकर कई तरह के काम कर सकते हैं।

सरल भाषा में कह सकते हैं कि ‘मेटावर्स (Metaverse)’ एक ऐसा वर्चूअल वर्ल्ड होगा, जिसमें कंप्यूटर तकनीकों के जरिए लोगों को कई तरह की सुविधाएँ घर बैठे ही दी जाएँगी और लोग घर बैठे ही वर्चूअल रूप से पूरी दुनिया घूम सकेंगें।

कंपनी के अधिकारियों के अनुसार, Oculus और Portal लोगों को नई वर्चूअल दुनिया और अनुभवों में टेलीपोर्ट करनें में समर्थ हैं, जिसके ज़रिए भौतिक सीमाओं को दूर कर वर्चूअल कनेक्टिविटी को बढ़ावा दिया जा सकता है।