pm-modi-launches-indian-space-association-ispa-ISRO-Space

India Space Association (ISpA): तकनीकी रूप से तेज़ी से बदलते इस दौर में भारत भी पीछे नहीं रहता दिखाई देना चाहता है और इसलिए देश के ऐसे तमाम क्षेत्रों में सरकार अब प्राइवेट कंपनियों के लिए नए अवसरों के दरवाज़े खोलते नज़र आ रही है। और इन्ही में से एक है अंतरिक्ष जगत।

जी हाँ! देश की अंतरिक्ष जगत से जुड़ी क्षमताओं को और व्यापाक रूप देने के लिए उठाए गए एक नए क़दम के तहत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन स्पेस एसोसिएशन (ISpA) का लॉन्च किया।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

असल में इंडियन स्पेस एसोसिएशन (ISpA) नामक इस नई संस्था के ज़रिए ये कोशिश की जाएगी कि सरकारी और निजी कंपनियों के बीच सहयोग को बढ़ावा देते हुए कमर्शियल अंतरिक्ष मिशनों और अंतरिक्ष आधारित कम्यूनिकेशन संबंधित प्रसायों को बल दिया जा सके।

What is India Space Association (ISpA)?

ये नया भारतीय अंतरिक्ष संघ (Indian Space Association – ISpA) देश की अंतरिक्ष संबंधित नीतियों के निर्माण में भी अहम भूमिका निभाएगा।

आसान भाषा में समझने की कोशिश करें तो इसके ज़रिए भारत में अंतरिक्ष जगत से जुड़ी प्राइवेट कंपनियाँ साथ आकार भारत सरकार के साथ भागीदारी कर सकेंगी। इससे ये फ़ायदा होगा कि सरकारी व प्राइवेट कंपनियों के बीच नई टेक्नोलॉजी साझा की जा सकेंगी व साथ ही नए स्पेस स्टार्टअप्स को भी अवसर मिले सकेंगें।

what-is-ISpA

वर्चूअल तरीक़े से हुए इस लॉन्च कार्यक्रम में भाग लेते हुए, पीएम मोदी ने कहा;

“आज वह दिन है जब भारतीय अंतरिक्ष क्षेत्र को नए पंख मिले हैं। आजादी के बाद से 75 वर्षों तक, भारत के अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत सरकार और सरकारी संस्थानों का ही प्रभुत्व रहा है। और इस बीच भारत के वैज्ञानिकों ने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं, लेकिन समय की मांग है कि भारतीय प्रतिभाओं पर पाबंदियों को हटाते हुए अब सार्वजनिक क्षेत्र और निजी क्षेत्रों को साथ लाकर, नए मौक़े पैदा किए जाएँ।”

इस ISpA का प्रतिनिधित्व Larson & Toubro, Nelco (Tata Group), OneWeb, Bharti Airtel, MapmyIndia, Walchandnagar Industries, Ananth Technology Ltd, Godrej, Hughes India, Azista-BST Aerospace Pvt Ltd, BEL, Centum Electronics और Maxar India आदि के संस्थापक सदस्यों द्वारा किया जा रहा है।

ISpA के लॉन्च के मौक़े पर केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री अश्विन वैष्णव, भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, अंतरिक्ष विभाग के राज्यमंत्री डॉक्टर जितेंद्र सिंह, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, इसरो (ISRO) के चेयरमैन के. सिवान और InSpace के चेयरमैन पवन गोयनका आदि मौजूद रहे।

माना ये भी जा रहा है कि स्पष्ट रूप से ISpA देश को ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी से लेकर 5G इंटरनेट, मोबाइल कम्यूनिकेशन, ब्रॉडकास्टिंग कम्यूनिकेशन सैटेलाइट्स, नेविगेशन आदि क्षेत्रों में नई ऊँचाईयों तक ले जाएगा।

ज़ाहिर है कहीं न कहीं ‘आत्मनिर्भर भारत’ पहल के तहत उठाए गए इस क़दम से इस क्षेत्र के सभी भागीदारों को साथ लेकर इंडियन स्पेस इंडस्ट्री भी वैश्विक स्तर के मानकों पर भी नए कीर्तिमान स्थापित करती नज़र आएगी।