over-40-indian-gamers-spend-rs-230-month-mobile-games

Gamers spend Rs 230 per month on mobile games: भारत में किफ़ायती स्मार्टफ़ोन और इंटरनेट के बढ़ते प्रसार के चलते अन्य क्षेत्रों के साथ ही साथ गेमिंग बाज़ार भी तेज़ी से बढ़ता नज़र आ रहा है। और अब सामने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारतीय गेमिंग बाजार 2025 तक $3.9 बिलियन का आँकड़ा छू लेगा।

असल में इंटरनेट और मोबाइल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (IAMAI) की रिपोर्ट ये बताती है कि देश में 40% से अधिक मोबाइल गेमर्स फ़ोन पर गेम खेलने को लेकर हर महीनें औसतन ₹230 तक का खर्च कर रहें हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

IAMAI की इस नई रिपोर्ट में बताया गया कि महामारी ने चलते पैदा हुई नई परिस्थितियों के चलते भी डिजिटल गेम की लोकप्रियता में भारी इज़ाफ़ा हुआ है। लॉकडाउन के समय से भारत में मोबाइल ऐप डाउनलोड के आँकड़ो में 50% तक की वृद्धि हुई और यूज़र एंगेजमेंट भी 20% तक बढ़ गई है।

वैसे IAMAI ने इस रिपोर्ट को मशहूर स्मार्टफोन ब्रांड OnePlus और बेंगलुरु स्थित मार्केट रिसर्च कंपनी RedSeer के सहयोग से तैयार किया है।

More than 40% of Indian gamers spend Rs 230 per month on mobile games

दिलचस्प ये है कि गेमिंग ऐप्स पर देश भर में यूज़र्स द्वारा बिताए गए समय के बढ़ते आँकड़े दर्शाते हैं कि भारत में हार्डकोर गेमर्स की संख्या में भी इज़ाफ़ा हो रहा है और बाक़ी सामान्य व पारंपरिक डिजिटल गेम्स तो देश में लोकप्रिय बने ही हुए हैं।

mobile-games-india

इस रिपोर्ट को लॉन्च करते हुए तेलंगाना के उद्योग-वाणिज्य और आईटी विभाग के प्रमुख सचिव, जयेश रंजन ने कहा,

“देश गेमिंग क्रांति की ओर अग्रसर है और गेमिंग ईकोसिस्टम तेज़ी से यूज़र्स द्वारा पसंद किए जाने वाले स्मार्टफ़ोन और 5G तकनीक का लाभ उठाते हुए आगे बढ़ रहा है।”

इस बीच उन्होंने भी गेमिंग सेक्टर के इस बढ़ते स्वरूप की वजहों में किफायती स्मार्टफोन के महत्व को भी रेखांकित किया।

भारत में फ़िलहाल 430 मिलियन से अधिक मोबाइल गेमर्स हैं और 2025 तक इस संख्या के बढ़कर 650 मिलियन तक हो जाने का अनुमान है।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि पूरे डिजिटल गेमिंग ईकोसिस्टम में मोबाइल गेमिंग ने अपना वर्चस्व क़ायम रखा है और ये देश के मौजूदा $1.6 बिलियन के गेमिंग मार्केट में 90% से अधिक की हिस्सेदारी रखती है।

भारत में तमाम ऐसी स्मार्टफ़ोन ब्रांड हैं जो लेटेस्ट फ़ीचर के साथ ही साथ बजट सेगमेंट में यूज़र्स के लिए शानदार विकल्प बाज़ार में पेश करती जा रही हैं और शायद यही वजह है कि बड़े गेमिंग कंसोल और कम्प्यूटर गेम्स को भी अब मोबाइल प्लेटफॉर्म के लिए तैयार किए जा रहे हैं।

रिपोर्ट की मानें तो पिछले 6 महीनों में इस क्षेत्र में लगभग $1 बिलियन का निवेश हुआ है, जो स्पष्ट रूप से दिखाता है कि गेमिंग क्षेत्र तेज़ी से निवेश आकर्षित कर रहा है।