whatsapp-new-feature-to-convert-voice-messages-to-text

WhatsApp Voice To Text Feature: हम ये तो जानते ही हैं कि इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप (WhatsApp) ने हाल ही में अपने एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का विस्तार बैकअप (Backups) स्टोरेज तक के लिए कर दिया है, लेकिन कंपनी यही नहीं रुकने वाली है।

जी हाँ! फेसबुक (Facebook) के मालिकाना हक़ वाली ये कंपनी अब जल्द iOS वाले बीटा टेस्टर्स के लिए एक अहम फ़ीचर पेश करने जा रही है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

व्हाट्सएप से जुड़ी तमाम लीक्स आदि पर नज़र रखने वाले WABetainfo की एक नई रिपोर्ट की मानें तो व्हाट्सएप (WhatsApp) iOS वर्जन पर जल्द ही ऑडियो मैसेजों को वॉयस ट्रांसक्रिप्शन के ज़रिए टेक्स्ट (Text) में बदलने संबंधित फ़ीचर को लेकर काम कर रहा है।

WhatsApp New Feature: Convert Voice Messages To Text

रिपोर्ट की मानें तो इस फ़ीचर का इस्तेमाल करने वाले यूज़र्स के वॉयस मैसेज ट्रांसक्रिप्शन के लिए फेसबुक या व्हाट्सएप सर्वर पर नहीं भेजे जाएंगे, बल्कि इसके लिए Apple की मदद ली जाएगी।

योजना ये है कि इसके ज़रिए Apple को अपने वॉयस रिकग्निशन (आवाज़ पहचानने वाली) तकनीक को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी और आपके मैसेज किसी तरह से आपकी आयडेंटिटी से लिंक नहीं होंगे।

whatsapp-voice-messages-to-text
Image Credit: WABetaInfo

इस फ़ीचर के तहत यूज़र को Apple की स्पीच रिकग्निशन सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए व्हाट्सएप (WhatsApp) के ऐप को अनुमति प्रदान करनी होगी।

एक बार जब आप ‘Allow’ का विकल्प चुन लेंगें तो आप एक ट्रांसक्रिप्शन सेक्शन खोल सकेंगें, जो आपको वॉयस मैसेज में विभिन्न टाइमस्टैम्प के बीच जम्प करने और ट्रांसक्रिप्शन देखने में मदद करेगा।

वैसे ये फ़ीतरे WhatsApp अपने Android ऐप में कब तक देगा? इसको लेकर अभी तक कोई स्पष्ट संकेत नहीं मिलें हैं। लेकिन इसका कारण भी साफ़ सा है।

इस फ़ीचर के लिए WhatsApp शुरू में Apple के साथ शुरुआत कर उसकी तकनीक का सहारा लेना चाहता है, और क्योंकि बीते कुछ समय से WhatsApp पहले ही प्राइवेसी संबंधित तमाम विवादों से घिरा हुआ है, इसलिए वह ऐसे किसी भी फ़ीचर को पेश करते वक़्त सुरक्षा या प्राइवेसी संबंधित जवाबदेही की ज़िम्मेदारी उठाने में झिझक सकता है।

लेकिन ऐसा नहीं है कि Android पर ये फ़ीचर नहीं पेश किया जाएगा। माना ये जा रहा है कि Google के साथ भी WhatsApp इसको लेकर कोई डील कर सकता है।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि Google पहले से ही Google Recorder के ज़रिए ऐसी सुविधा देता आ रहा है, पर ये सिर्फ़ Pixel फ़ोनों पर उपलब्ध है।