kids-in-china-now-restricted-to-just-3-hours-of-online-gaming-per-week

China 3 Hours Online Gaming for Kids: चीन के नेशनल प्रेस एंड पब्लिकेशन एडमिनिस्ट्रेशन ने बच्चों (नाबालिगों/ 18 साल से कम उम्र के बच्चे) के लिए ऑनलाइन गेमिंग पर लिमिट लगाने संबंधी एक नोटिस जारी किया है। इस नोटिस के मुताबिक़ 1 सितंबर से चीन में वीडियो गेम्स (Video Games) कंपनियों को बच्चों के लिए ऑनलाइन गेमिंग सर्विस को हफ़्ते में सिर्फ़ तीन घंटे तक सीमित करना होगा।

दिलचस्प ये है कि नोटिस के मुताबिक़ सरकार ने ये भी तय किया है कि ये तीन घंटे कौन से होंगे? जी हाँ! चीन में बच्चे अब शुक्रवार, शनिवार और रविवार को रात 8 बजे से रात 9 बजे तक ही ऑनलाइन गेम खेल सकते हैं।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

असल में Bloomberg की एक रिपोर्ट में चीन के सरकारी मीडिया नोटिस के हवाले से बताया गया है कि चीनी सरकार के इस फ़रमान के बाद, Tencent और NetEase जैसे चीनी गेमिंग प्लेटफार्मों को ऑनलाइन गेमिंग में बच्चों के लिए ये 3 घंटे की लिमिट का अनुपालन शुरू कर देना है।

Kids in China now restricted to just 3 hours of online gaming per week

ग़ौर करने वाली बात ये है कि 18 साल से कम उम्र के बच्चे चीन में शुक्रवार, शनिवार और रविवार के साथ ही सार्वजनिक छुट्टियों पर भी रात को 8 बजे से 9 बजे तक (मतलब एक घंटे) ऑनलाइन गेमिंग का लुफ़्त उठा सकते हैं।

बता दें इसके पहले चीन में बच्चों के लिए अधिकतर दिनों में प्रतिदिन 1.5 घंटे तक ऑनलाइन गेम खेल सकने की अनुमति थी।

china-new-gaming-rules-limits-for-kids

आप सोच रहें होंगें कि चीनी सरकार ने अचानक ये फ़रमान क्यों जारी किया है? असल में इन नए प्रतिबंधों के साथ चीन की सरकार बच्चों के बीच ऑनलाइन गेमिंग के बढ़ते ख़तरनाक क्रेज़ पर क़ाबू पाना चाहती है।

पड़ोसी देश एक नेशनल प्रेस एंड पब्लिकेशन एडमिनिस्ट्रेशन की माने तो, ऑनलाइन गेमिंग का नाबालिगों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर गहरा प्रभाव पड़ता है, जो अधिकांश रूप से नकारात्मक ही होता है।

पर अब इन नए प्रतिबंधो को लागू करने के लिए चीनी गेमिंग कंपनियों को वास्तविक नाम-आधारित रजिस्ट्रेशन प्रणाली का लाभ उठाना होगा।

इसमें कोई दिक्कत इसलिए नहीं होगी क्योंकि Tencent ने 2018 में अपने बेहद लोकप्रिय मोबाइल गेम ऑनर ऑफ किंग्स (Honor of Kings) पर खेलने के समय को सीमित करने के लिए इस प्रणाली का इस्तेमाल शुरू किया था।

चीनी नियामक का कहना है कि वह चीनी युवाओं के बीच फैली ‘गेमिंग की लत’ का सामाधन तलाशने के लिए बच्चों के माता-पिता और स्कूलों के साथ भी मिलकर काम करेगा।

वैसे ये नियम ऐसे वक़्त में आए हैं जब एक महीने पहले राज्य मीडिया द्वारा प्रकाशित एक लेख में ऑनलाइन गेम्स को “आध्यात्मिक अफीम (Spiritual Opium)” के रूप में बताया गया था। पर विवाद के बाद इन शब्दों को हटा दिया गया था।