tesla-gets-approval-for-4-models-to-launch-in-india

India Asks Tesla To Share Manufacturing Plan: दुनिया की सबसे नामी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी, टेस्ला (Tesla) के संस्थापक और सीईओ, एलोन मस्क (Elon Musk) के भारत में अधिक ऑटोमोबाइल इंपोर्ट टैक्स संबंधित बयान के बाद से ही सरकार द्वारा इस दिशा में कुछ ठोस फ़ैसला लेने की अटकलें लगाई जाने लगी हैं।

और इसी कड़ी में अब एक नई ख़बर सामने आई है, जिसके मुताबिक़ भारत सरकार अब Tesla को किसी भी तरीक़े से टैक्स में राहत देने के पहले भारत को लेकर कंपनी के ‘मैन्युफ़ैक्चरिंग प्लान’ के बारे में जानकारी चाहती है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

India Asks Tesla To Share Manufacturing Plan Before Any Tax Cuts

जी हाँ! ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, मामले के जानकार एक सूत्र ने ये बताया है कि सरकार ने टैक्स को लेकर कोई भी फ़ैसला लेने से पहले Tesla से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में तेजी लाने और इनके निर्माण संबंधित प्लान के बारे में स्पष्ट रोडमैप साझा करने के लिए कहा है।

रिपोर्ट की मानें तो भारत के भारी उद्योग और वित्त मंत्रालय ने इस महीने की शुरुआत में एक बैठक में टेस्ला (Tesla) से ये तमाम ब्योरा मांगा है। इसके साथ ही​​ सरकार ने एलोन मस्क द्वारा एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था यानि भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों पर इंपोर्ट टैक्स आदि कम करने को लेकर की गई माँगो पर भी गौर किया।

सूत्र का कहना है कि मंत्रालय ने Tesla से पूरी तरह से निर्मित कारों और तथाकथित नॉक-डाउन इकाइयों मतलब आंशिक रूप से निर्मित वाहनों के आयात को लेकर भी स्पष्टीकरण माँगा है।

अब तक प्राप्त जानकारी के अनुसार रिपोर्ट में बताया गया है कि Tesla ने अभी तक सरकार के अनुरोधों पर कोई जवाब नहीं भेजा है।

tesla-model-3-car-testing-may-start-by-july-august

कैलिफोर्निया आधारित Tesla ने जुलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को पत्र लिखकर देश में इलेक्ट्रिक कारों पर लगने वाले आयात शुल्क को मौजूदा रूप के 100% –  60% से घटाकर 40% तक करने की माँग की थी।

इतना ही नहीं बल्कि कंपनी ने 10% सोशल वेल्फ़ेयर सरचार्ज को भी ख़त्म करने की माँग की थी, जो देश में आयात किए जाने वाली सभी कारों पर लगाया जाता है और इसका इस्तेमाल स्वास्थ्य और शिक्षा प्रोग्राम को फ़ंड के तौर पर मदद करने में होता है।

रिपोर्ट के अनुसार इस बैठक में Tesla ने इस बात का भी दावा किया है कि कंपनी ने अब तक भारत से क़रीब $100 मिलियन क़ीमत के कम्पोनेंट की खरीद की है और किसी भी तरह की कर रियायत के बाद यह आंकड़ा और बढ़ने का भी आश्वासन दिया है।

साथ ही जानकारों के मुताबिक़, Tesla ने बिक्री, सर्विस और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में भी प्रत्यक्ष रूप से अहम निवेश करने का भी वादा किया है।

ज़ाहिर है Elon Musk अपनी कंपनियों के ज़रिए भारत में काफ़ी सालों से प्रवेश करना चाहते हैं। लेकिन मस्क ने कुछ ही दिनों पहले ऑटोमोबाइल पर लागने वाले आयात शुल्क को काफ़ी अधिक बताया था।

वैसे इसके पहले एक और रिपोर्ट भी सामने आई थी, जिसमें ये कहा गया था कि भारत $40,000 (क़रीब ₹29.7 लाख) या उससे कम की इलेक्ट्रिक कारों पर आयात शुल्क 60% से घटाकर 40% कर सकता है।

साथ ही $40,000 से अधिक क़ीमत वाली इलेक्ट्रिक कारों के लिए, आयात शुल्क संभावित रूप से 100% से घटाकर 60% किया जा सकता है।

1 comment

Comments are closed.