funding-news-crypto-investment-startup-flint-raises-rs-38-cr

CoinDCX becomes India’s first crypto unicorn: भारत में स्टार्टअप्स द्वारा यूनिकॉर्न स्टेटस हासिल करने का सिलसिला जारी है। और इसी दिशा में अब लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज (Cryptocurrency Exchange) प्लेटफ़ॉर्म CoinDCX अपने सीरीज-C फंडिंग राउंड में लगभग ₹8150 करोड़ ($1.1 बिलियन) की वैल्यूएशन पर क़रीब ₹670 करोड़ ($90 मिलियन) का निवेश हासिल करते हुए भारत का पहला क्रिप्टो यूनिकॉर्न बन गया।

दिलचस्प रूप से कंपनी में इस निवेश दौर का नेतृत्व फेसबुक (Facebook) के पूर्व सह-संस्थापक, एडुआर्डो सेवरिन (Eduardo Saverin) द्वारा स्थापित B Capital Group ने किया।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन B Capital Group के अलावा भी कंपनी के मौजूदा निवेशकों जैसे Coinbase Ventures, Polychain Capital, Block.one, Jump Capital आदि ने भी इस निवेश दौर में भाग लिया।

तीन साल पुराने इस स्टार्टअप के मुताबिक़ वह प्राप्त किए गए इस नए फ़ंड का इस्तेमाल देश भर में क्रिप्टोकरेंसी संबंधित जागरूकता फैलाने के लिए करेगा।

CoinDCX becomes India’s first crypto unicorn

कंपनी की मानें तो वह अपने विस्तार के मक़सद से अधिक से अधिक भारतीयों को क्रिप्टो बाज़ार से जोड़ने और देश में क्रिप्टो को एक लोकप्रिय निवेश संपत्ति बनाने के साथ ही अपने कार्यबल को भी मजबूत करती नज़र आएगी।

CoinDCX इस बीच अपना विशेष ध्यान अपनी प्रोडक्ट टीम को अधिक मज़बूती प्रदान करने में देगी और ताकि नई प्रतिभावाओं को जोड़ते हुए प्लेटफ़ॉर्म पर नए इनोवेशन को बढ़ावा दिया जा सके और अगली पीढ़ी के उत्पादों का निर्माण किया जा सके।

coindcx-founders
CoinDCX Founders, Sumit Gupta and Neeraj Khandelwal

CoinDCX का दावा है कि फ़िलहाल कंपनी के पास कुल 3.5 मिलियन उपयोगकर्ता हैं, और कंपनी का मक़सद अन्य चीज़ों के साथ ही साथ ग्राहकों को जोड़ने के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करते हुए 50 मिलियन भारतीयों को क्रिप्टो बाज़ार से जोड़ कर एक स्थायी विकास दर हासिल करने का है।

इस नए निवेश को लेकर CoinDCX के सह-संस्थापक और सीईओ, सुमित गुप्ता ने कहा,

“हम प्लेटफ़ॉर्म पर अपने क्रिप्टो निवेशक आधार को बढ़ाने के लिए कई प्रमुख फिनटेक कंपनियों के साथ भी साझेदारी करेंगे। इतना हाई नहीं बल्कि एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट (RnD) सुविधा भी स्थापित करेंगे और सरकार के साथ इस दिशा में अनुकूल नियमों, जागरूकता आदि को लेकर भी काम करेंगें।”

ग़ौर करने वाली बात ये है कि रिटेल निवेशकों के लिए अपने प्लेटफ़ॉर्म पर मुख्यतः सरल और सुरक्षित निवेश विकल्प व एक्सचेंज सेवाओं के अलावा, CoinDCX एंटरप्राइज़ कस्टमर और ट्रेडर्स के लिए ट्रेडिंग और लेंडिंग सम्बंधित सेवाएं भी प्रदान करता है और एक ग्लोबल ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म का भी संचालन करता है।

असल में भले दुनिया भर में क्रिप्टोकरेंसी की स्वीकार्यता तेज़ी से बढ़ी है, लेकिन भारत में तुलनात्मक रूप से यह अभी भी धीमी है।

लेकिन अब भारत सरकार द्वारा देश में NFT और क्रिप्टो बाज़ार को लेकर गठित की गई विनियम समिति व इस क्षेत्र में स्टार्टअप्स को निवेशकों से मिलते प्रोत्साहन के चलते, देश में क्रिप्टो बाज़ार को लेकर एक सकारात्मक भविष्य का सपना बुना जा रहा है। हाल के दिनों में क्रिप्टोकरेंसी और डिजिटल संपत्ति की बढ़ती मांग इसका ही एक संकेत कहा जा सकता है।