drone-platform-startup-skylark-drones-raises-rs-22-crore

एंटरप्राइज़ ड्रोन सोल्यूशन प्रोवाइडर, स्काईलार्क ड्रोन (Skylark Drones) ने आज अपने प्री-सीरीज ‘ए’ निवेश दौर (फंडिंग राउंड) में $3 मिलियन (क़रीब 22 करोड़ रुपए) का निवेश हासिल करने का ऐलान किया है। कंपनी के इस फ़ंडिंग राउंड का नेतृत्व InfoEdge Ventures और IAN Fund ने मिलकर किया।

दिलचस्प ये है कि उन दोनों निवेशकों के साथ ही इस दौर में AdvantEdge Founders, Fowler Westrup, Redstart Labs, IKP और Vimson group ने भी बतौर निवेशक भागीदारी की।

बता दें ये इसके पहले Skylark Drones को साल 2018 में निवेश मिला था। बहरहाल! कंपनी इस नए निवेश का इस्तेमाल ग्राहकों के लिए व्यावसायिक निर्णय और रणनीति को सरल और बेहतरीन बनाने की दिशा में ड्रोन डेटा से अहम इन्सायट्स (Insights) को और भी व्यापक रूप से हासिल करने में करेगी।

साथ ही कंपनी इस नए फ़ंड के ज़रिए अपने प्रोडक्ट का और व्यापक ढंग से अंतर्राष्ट्रीय विस्तार और ड्रोन डेटा एनालिटिक्स उत्पादों के विकास की भी योजना बना रही है।

skylark-drones

Skylark Drones की शुरुआत साल 2014 में बैंगलोर आधारित दो इंजीनियरों, मुगलन थिरु रामासामी (Mughilan Thiru Ramasamy) और मृणाल पाई (Mrinal Pai) द्वारा की गई थी।

ये कंपनी ड्रोन डेटा का इस्तेमाल करते हुए सटीक व्यावसायिक निर्णय लेने में मदद करने के लिए वर्क-साइट इंटेलिजेन्स से जुड़ी जानकारियाँ या इन्सायट्स प्रदान करने का काम करती है।

बता दें फ़िलहाल कंपनी के अमेरिका और भारत दोनों जगहों पर ऑफ़िस हैं और ये क़रीब 100 से अधिक एंटरप्राइज़ क्लाइंट (ग्राहक) होने का दावा करती है। साथ ही इसका दावा है कि यह अब तक 10 लाख से अधिक तस्वीरों से डेटा हासिल करने के लिए उन्हें प्रॉसेस कर चुकी है और साथ ही इसके प्लेटफ़ॉर्म से 20,000 से अधिक ऑटोनॉमस ड्रोन उड़ानें भरी जा चुकी हैं।

इस बीच Skylark Drones के सह-संस्थापक और सीईओ, Mughilan Thiru Ramasamy ने कहा;

“हमारी कंपनी का विज़न हवाई इंटेलिजेन्स की आर्थिक क्षमता को अनलॉक करने का है।”

तमाम रिपोर्ट्स के मुताबिक़ साल 2019 में ड्रोन स्टार्टअप्स ने क़रीब $16.55 मिलियन का निवेश हासिल किया था। वहीं ड्रोन स्टार्टअप्स की संख्या में भी बेटे कुछ सालों में काफ़ी इज़ाफ़ा हुआ है।

ख़ासकर इस महामारी के दौर में जब ड्रोन के ज़रिए दवाईयाँ, वैक्सीन आदि की डिलीवरी की भी संभावनाएँ तलाशी जा रही हैं, जो वाक़ई एक बेहतरीन क़दम कहा जा सकता है।